Covid-19 Update

58,879
मामले (हिमाचल)
57,406
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,173,761
मामले (भारत)
116,220,912
मामले (दुनिया)

Nigeria में फंसे Himachal के दो युवक, Agent पर धमकाने का आरोप

Nigeria में फंसे Himachal के दो युवक, Agent पर धमकाने का आरोप

- Advertisement -

पालमपुर। हिमाचल के दो युवकों सहित कुछ भारतीय सीमैन पिछले तीन महीने से नाइजीरिया में फंसे हुए हैं। हिमाचल के दो युवकों में एक युवक नगरोटा बगवां के रमेहड़ का है और दूसरा रक्कड़ तहसील का है। युवकों ने एक वीडियो के माध्यम से नाइजीरिया में फंसे होने की बात कही है और उन्हें छुड़ाने की मांग भारत सरकार से की है। वहीं, युवकों के परिजन भी उन्हें छुड़ाने के लिए पूरी कोशिश कर रहे हैं। इसी के चलते आज दोनों युवकों के परिजनों ने बीजेपी महिला मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष इंदू गोस्वामी से मुलाकात कर उन्हें इस मामले के बारे अवगत करवाया।

  • परिजनों ने उठाई मांग- जल्द छुड़ाए भारत सरकार
  • युवक भारतीय दूतावास से भी कर चुके हैं संपर्क

नाइजीरिया में समुद्री जहाज में फंसे रक्कड़ तहसील के कैप्टन अतुल शर्मा के भाई अमन शर्मा ने मीडिया से रू-ब-रू होते हुए बताया कि उनके भाई व अन्य युवक पिछले तीन माह से नाइजीरिया में समुद्री जहाज में फंसे हैं। इसके लिए भारतीय दूतावास से भी संपर्क किया गया है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है। साथ ही एजेंट से भी इस बारे बात की तो वह धमकी दे रहा है। वहीं, रमहेड़ नगरोटा बगवां के चीफ ऑफिसर सुधीर कुमार की पत्नी रीमा ने बताया कि उनके पति 15 अगस्त 2017 को मुंबई से नाइजीरिया समुद्री जहाज के साथ गए थे और नाइजीरिया में उनके जहाज को पकड़ लिया गया। उन्होंने कहा कि उनके पति ने कोई क्राइम नहीं किया है, फिर भी उन्हें वहां पर बंदी बनाकर रखा हुआ है। उक्त दोनों युवकों के परिजनों ने भारत सरकार से मांग की है कि उन्हें जल्द से जल्द भारत वापस लाया जाए।

भारतीय सीमैन ने क्या कहा वीडिया में

नाइजीरिया में फंसे भारतीय सीमैन ने एक वीडियो सोशल मीडिया पर जारी किया है। उन्होंने भारत सरकार से मांग की है कि नाइजीरिया में फंसे इंडियन सीमेन को छुड़ाया जाए। उन्होंने कहा कि किसी 2012 के मामले में नाइजीरिया नेवी ने समुद्री जहाज को पकड़ा हुआ है। इस मामले में उनका कोई कसूर नहीं है। नाइजीरिया नेवी से भी इस बारे बात की तो उन्होंने कहा कि आप जा सकते हैं, लेकिन कंपनी एक रिक्वेस्ट लेटर दे। पर कंपनी लेटर नहीं दे रही है और झूठ पर झूठ बोल रही है। उन्होंने कहा कि तीन माह से यहां पर न तो उनके लिए खाने की पर्याप्त सुविधा है और न ही कंपनी ने तीन माह से सेलरी दी है। भारतीय दूतावास से भी इस बारे बात की है, लेकिन कोई कार्रवाई अब तक नहीं हुई है। भारतीय दूतावास को शिकायत किए एक माह से अधिक का समय हो गया है।

यह भी पढ़ें : नाइजीरिया का ड्रग सप्लायर दिल्ली से काबू

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है