Covid-19 Update

2,06,589
मामले (हिमाचल)
2,01,628
मरीज ठीक हुए
3,507
मौत
31,767,481
मामले (भारत)
199,936,878
मामले (दुनिया)
×

कुलभूषण जाधव मामलाः PAK जाकर Case लड़ेंगे उज्जवल निकम

कुलभूषण जाधव मामलाः PAK जाकर Case लड़ेंगे उज्जवल निकम

- Advertisement -

Kulbhushan jadhav case: पुणे। पाकिस्तान में कैद और फांसी की सजा सुनाए गए भारतीय नागरिक और पूर्व नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव के मामले में एक नया मोड़ आया है। जाधव की रिहाई के लिए स्पेशल पब्लिक प्रोसिक्यूटर उज्जवल निकम पाकिस्तान जाकर केस लड़ने को तैयार हैं। सरकारी वकील उज्जवल निकम ने बताया कि पाक एक बनाना रिपब्लिक है और अस्थिर सरकार वाला देश है। निकम ने कहा है कि उन्हें पाक के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सरताज अजीज के बयान पर ताज्जुब है कि फांसी की सजा सुनाए गए कुलभूषण जाधव को किसी से मिलने नहीं दिया जा सकता। 

निकम ने कहा कि कोई भी व्यक्ति जिसे फांसी की सजा सुनाई जाती है, उस व्यक्ति को काउंसलर एक्सेस दिया जाता है। अगर पाक ऐसा नहीं कर रहा है तो इससे साफ जाहिर है कि जाधव का इकबालिया बयान उससे दवाब में लिया गया है।  पाकिस्तान की पोल न खुल जाए इसलिए वह उसे किसी से मिलने नहीं देना चाहता। जाधव का इकबालिया बयान लेते वक्त उसे टॉर्चर किया गया होगा और अगर यह सच्चाई सामने आई तो पाक एक फिर दुनिया के सामने बेनकाब हो जाएगा। निकम ने यह भी कहा कि पाक की न्यायिक प्रक्रिया हिन्दुस्तान के कानून व्यवस्था जैसी ही है, इसलिए किसी भी व्यक्ति का बयान अगर मारपीट कर लिया गया जाता है तो उस बयान के कोई मायने नहीं है। इसलिए पाक जाधव से किसी को मिलने देने को तैयार नहीं है।


Kulbhushan jadhav case: जाधव शायद ही जिंदा हो

वकील उज्जवल निकम ने कहा कि उनको यह लगता है कि शायद कुलभूषण जाधव  जिंदा न हो। इसलिए पाक जाधव के साथ किसी को भी मिलने नहीं  दे रहा है और बहाने बना रहा है। उनका कहना है कि जाधव को काउंसलर एक्सेस मिलना चाहिए, जिससे पता चले कि जाधव का इकबालिया बयान खुद दिया है या फिर उससे जबरदस्ती लिया गया है। ईरान सरकार ने भी कहा कि कुलभूषण जाधव ईरान में अपने व्यवसाय के संबंध में काम कर रहे थे। इसलिए जाधव निर्दोष है। पाक के खिलाफ हिंदुस्तान ने इस मामले में सख्त कदम उठाया है, इससे बचने के लिए पाक जाधव को भारतीय जासूस साबित करने में लगा है।

यह भी पढ़ें- कुलभूषण जाधव: सख्त हुआ India, Pak के साथ वार्ता बंद

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है