Expand

यूएन सैन्य समूह को सीधे तौर पर नहीं दिखी कोई गोलीबारी

यूएन सैन्य समूह को सीधे तौर पर नहीं दिखी कोई गोलीबारी

- Advertisement -

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने भारत-पाकिस्तान के बीच के विवाद को सुलझाने में उनकी मदद करने के लिए मध्यस्थ की भूमिका निभाने का प्रस्ताव पेश किया है।

  • प्रस्ताव में दोनों देशों से क्षेत्र में तनाव कम करने के लिए तत्काल कदम उठाने का आग्रह किया है।

इससे पहले संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून के प्रवक्ता ने शुक्रवार को कहा था कि इन दोनों देशों के बीच संघर्ष विराम की निगरानी की जिम्मेदारी संभाल रहे, उसके मिशन को नियंत्रण रेखा पर सीधे तौर पर कोई फायरिंग नजर नहीं आई।

un-1संयुक्त राष्ट्र महासचिव के प्रवक्ता स्टेफेन दुजार्रिक ने संवाददाताओं से कहा, भारत और पाकिस्तान में संयुक्त राष्ट्र सैन्य निगरानी दल को नई घटनाओं के संबंध में नियंत्रण रेखा के पार से सीधे तौर पर कोई फायरिंग नजर नहीं आई। उनसे जब इस बात पर स्पष्टीकरण मांगा गया कि भारत ने कहा है कि

  • उसने नियंत्रण रेखा के पार लक्षित हमला किया तो भारत और पाकिस्तान में संयुक्त राष्ट्र सैन्य निगरानी दल को कैसे कोई फायरिंग नजर नहीं आई।

तब उन्होंने दोहराया कि भारत और पाकिस्तान में संयुक्त राष्ट्र सैन्य निगरानी दल को सीधे तौर पर कोई फायरिंग नजर नहीं आई है।

  • बान ने भारत और पाकिस्तान की सरकारों से कश्मीर समेत आपसी मसलों को कूटनीति एवं वार्ता के जरिये शांतिपूर्ण तरीके से सुलझाने की अपील की है।

un-2उन्होंने दोनों देशों से कहा कि यदि दोनों पक्ष स्वीकार करते हैं तो वह मध्यस्थता के लिए उपलब्ध हैं। बता दें कि भारत ने 28 और 29 सितंबर की रात एलओसी पर सर्जिकल स्ट्राइकल किये जाने का दावा किया है। भारतीय सेना ने कश्मीर के उरी स्थित सैन्य अड्डे पर पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश.ए.मोहम्मद के हमले के बाद यह कार्रवाई की।

  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि हमलावर सजा से बच नहीं पाएंगे और जवानों का बलिदान बेकार नहीं जाएगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है