Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

क्रशर एसोसिएशन ने Mining Policy को बताया तुगलकी फरमान, जारी रहेगी हड़ताल

क्रशर एसोसिएशन ने Mining Policy को बताया तुगलकी फरमान, जारी रहेगी हड़ताल

- Advertisement -

ऊना। एक सप्ताह से हड़ताल पर चल रही ऊना क्रशर एसोसिएशन( Una Crushers Association) ने सरकार की नई खनन नीति( Mining Policy) को तुगलकी फरमान करार दिया है। एसोसिएशन के जिला प्रधान डिंपल ठाकुर ने ऊना में मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि क्रशर और ओपन सेल लीज होल्डरों की हड़ताल के कारण जहां सरकारी राजस्व को नुकसान हो रहा है वहीं विकास कार्य भी ठप हो गए है। डिंपल ठाकुर ने सरकार को चेतावनी दी कि जब तक नई खनन नीति वापिस नहीं होगी क्रशर और ओपन सेल लीज होल्डरों की हड़ताल जारी रहेगी।

यह भी पढ़ें:नई खनन नीति के खिलाफ ऊना क्रशर एसोसिएशन की Strike


क्रशर एसोसिएशन की हड़ताल के चलते जिला ऊना में सरकारी व गैर सरकारी निर्माण कार्य बुरी तरह से प्रभावित हो गए है। वहीं सरकार को करीब 50 करोड़ का राजस्व घाटा 31 मार्च तक होगा। वहीं अब तक करीब 500 करोड़ के कार्य प्रभावित हो चुके हैं। यह बात क्रशर एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष डिम्पल ठाकुर ने कही। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से तुगलकी फरमान जारी किए गए हैं। जिसे सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि रेत-बजरी न मिलने से निर्माण कार्य अधर में लटक गए है। ऐसे में सरकारी ठेकेदारों के साथ-साथ लोगों को भारी परेशानियों से जूझना पड़ रहा है। लोगों को हो रही परेशानी को देखते हुए क्रशर एसोसिएशन ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि इस तुगलकी फरमान को जल्द से जल्द वापस लिया जाए। जब तक सरकार ने अपना निर्णय वापस न लिया, तब तक क्रशर एसोसिएशन की हड़ताल जारी रहेगी। क्रशर एसोसिएशन की हड़ताल के चलते जिला ऊना के सभी क्रशरों पर कामकाज पूरी तरह से बंद है। लोगों को रेत-बजरी नहीं मिल पा रही है। ऐसे में जिला भर में सरकारी विकास कार्यो के साथ-साथ लोगों द्वारा बनाए जा रहे घर निर्माण कार्य भी बीच अधर में लटक गए है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है