जवानों पर था किस बात का तनाव : ब्रिगेडियर की पत्नी पर जवानों की पत्नियों को नचवाने का आरोप

: सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था पंफलेट

जवानों पर था किस बात का तनाव : ब्रिगेडियर की पत्नी पर जवानों की पत्नियों को नचवाने का आरोप

- Advertisement -

धर्मशाला। धर्मशाला छावनी में इन दिनों तीन होनहार जवानों को एक साथ खो देने के कारण मातम पसरा हुआ है।सोमवार सुबह हुई घटना में एक जवान ने अपने दो साथियों को गोली मारकर खुद आत्महत्या कर ली। तीनों जवानों के शवों को पंजाब स्थित उनके पैतृक गांवों में भेज दिया गया है। जिसके बाद प्रारंभिक जांच में इस बात का खुलासा हुआ कि इस बैरक में दो जवानों ने तो छिप कर जान बचाई, नहीं तो मरने वालों की संख्या पांच होती।


सेना के अंदरूनी सूत्रों के मुताबिक छावनी में रह रहे जवानों के बीच कई दिनों से तनाव की स्थिति बनी हुई थी। सेना के जवानों में सब ठीक नहीं चल रहा। बता दें कि करीब दस महीने पहले पहले भी यहां छावनी के कमान अधिकारी ब्रिगेडियर के बर्ताव के खिलाफ पंफलेट व पोस्टर सोशल मिडिया और अखबारों में बांटे गए थे। लेकिन उस समय मामले की गंभीरता को देखते हुये सेना ने जांच तो बिठाई ,लेकिन सारा कारनामा पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के मत्थे मढ़कर इस मामले से अपना पीछा छुड़ा लिया।

बता दें कि इस दौरान छावनी में तैनात ब्रिगेडियर और उसकी पत्नी पर पंफलेट छाप कर जवानों के साथ बदसलूकी करने का आरोप लगाया गया। इसमे छावनी में तैनात ब्रिगेडियर की पत्नी पर आरोप लगा था कि वह अपने सामने जवानों की पत्नियों को नचवाती थी और वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा जवानों के लिए किसी भी प्रकार की सुविधा नहीं उपलब्ध कराई जाती है। इन पर्चों में अधिकारियों और जवानों के बीच की समस्या का उल्लेख किया गया था।

सोशल मीडिया पर करने और इन पोस्टर के तेजी से वायरल होने के बाद लोग ब्रिगेडियर और उसकी पत्नी की कड़ी आलोचना करने लगे।हालांकि जांच के दौरान पता चला कि एक अज्ञात व्यक्ति ने अखबार वाले को 200 रुपये दिए थे। व अखबार वाले ने हर अखबार के साथ इन्हें बांट दिया था। पंफलेट बांटे जाने के बाद इन्हें सेना के व्हाट्सऐप और फेसबुक ग्रुप पर शेयर करने वाले शख्स की पहचान आज तक नहीं हो पाई है। हालांकि सेना का दावा है कि यह सब पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई का किया धरा है।आमतौर पर सेना की अंदरूनी खबर बाहर नहीं आती। लेकिन इस मामले में जब खबर फैली तो सेना में हड़कंप मचा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है