मंडी में कहां हो रहा है पांच लाख तक बिना पैसे खर्च किए ईलाज,जाने विस्तार से

योजना के अंतर्गत अधिकतम पांच सदस्यों के एक परिवार को मिलेगा लाभ

मंडी में कहां हो रहा है पांच लाख तक बिना पैसे खर्च किए ईलाज,जाने विस्तार से

- Advertisement -

मंडी। हिम केयर (him Care) योजना के अंतर्गत मंडी (mandi) जिला के 21 राजकीय व सात निजी अस्पतालों में पांच लाख रुपए तक की निःशुल्क उपचार सुविधा प्रदान की जा रही है। योजना के तहत प्रदेश के साढ़े छह लाख लोगों को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। योजना के अंतर्गत अधिकतम पांच सदस्यों के एक परिवार को एक वर्ष में पांच लाख रुपए तक निःशुल्क उपचार की सुविधा प्रदान की जाएगी।

परिवार में सदस्यों की अधिक संख्या होने पर शेष सदस्यों का अलग से पंजीकरण किया जाएगा। योजना में प्रदेश के लगभग 6 लाख 50 हजार लोगों को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। पूरे प्रदेश के साथ ही मंडी (mandi) जिला में भी इस योजना को क्रियान्वित करने के लिए 21 राजकीय व 7 निजी अस्पताल पंजीकृत किए गए हैं जहां पर योजना के अंतर्गत अंतरंग रोगी विभाग व डे केयर में निःशुल्क उपचार की सुविधा निर्धारित पैकेज दरों पर प्रदान की जा रही है।

मंडी जिला के इन अस्पतालों में मिलेगा उपचार

him Care योजना के अंतर्गत जिला में राजकीय स्वास्थ्य संस्थानों में श्री लाल बहादुर शास्त्री राजकीय आयुर्विज्ञान महाविद्यालय व चिकित्सालय मंडी स्थित नेरचौक, नेताजी सुभाष चंद्र बोस जोनल अस्पताल मंडी, नागरिक अस्पताल सरकाघाट, करसोग, कोटली, जंजैहली, जोगेंद्रनगर, सुंदरनगर, संधोल व धर्मपुर, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कटौला, लडभड़ोल, निहरी, बगस्याड, नगवाईं, गोहर, बलद्वाड़ा, रत्ती व पधर, जिला आयुर्वेदिक अस्पताल मंडी व आयुर्वेदिक अस्पताल जोगेंद्रनगर तथा निजी अस्पतालों में भांवला मल्टी स्पेशिएल्टी अस्पताल, आस्था मल्टी स्पेशिएल्टी अस्पताल, नीलकंठ अस्पताल, मल्होत्रा अस्पताल एवं ट्रामा सेंटर, बांगा एसोसिएटिड अस्पताल आई केयर सेंटर, जागृति मेडिकल सेंटर व मन्नत अस्पताल पंजीकृत किए गए हैं।

श्रेणीवार यह जमा करने होंगे प्रमाण पत्र

लाभार्थी को पंजीकरण एवं नवीनीकरण के समय श्रेणी से संबंधित दस्तावेज वेबसाईट पर अपलोड करने होंगे। इनमें गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) श्रेणी के पात्र आवेदकों को पिछले एक माह के भीतर पंचायत सचिव द्वारा प्रमाणित बीपीएल प्रमाण पत्र देना होगा। पंजीकृत रेहड़ी-फड़ी धारक को गत एक माह के भीतर नगर पालिका, नगर परिषद, स्थानीय निकाय के कार्यकारी अधिकारी द्वारा प्रमाणित पंजीकरण प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा। इन्हें वार्षिक प्रीमियम का भुगतान भी नहीं करना होगा।

एकल नारी आवेदक को संबंधित क्षेत्र के बाल विकास कार्यक्रम अधिकारी (सीडीपीओ) द्वारा जारी किया गया प्रमाण पत्र देना होगा। इस श्रेणी में विधवा, तलाकशुदा अथवा कानूनी रूप से पृथक, 40 वर्ष की आयु से अधिक की अविवाहित महिलाएं पात्र हैं। इसी प्रकार 40 प्रतिशत से अधिक दिव्यांग को चिकित्सा दिव्यांगता प्रमाण पत्र तथा 70 वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिक को आयु वैधता प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा।

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिकाओं को संबंधित क्षेत्र के बाल विकास कार्यक्रम अधिकारी द्वारा जारी प्रमाण पत्र, आशा कार्यकर्ता को संबंधित खंड चिकित्सा अधिकारी द्वारा जारी प्रमाण पत्र तथा प्राथमिक पाठशाला में तैनात मिड-डे मील कार्यकर्ता को खंड प्राथमिक शिक्षा अधिकारी तथा माध्यमिक, उच्च, वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में तैनात मिड-डे मील कार्यकर्ता को संबंधित संस्थान प्रमुख द्वारा जारी प्रमाण पत्र अपलोड करवाना होगा।

अनुबंध कर्मचारी, दिहाड़ीदार, अंशकालिक कर्मचारी को संबंधित विभाग द्वारा जारी प्रमाण पत्र प्रमाणीकरण के लिए बतौर दस्तावेज अपलोड करना होगा। उपरोक्त श्रेणियों को 365 रुपए वार्षिक प्रीमियम का भुगतान करना होगा। इसके अतिरिक्त जो लाभार्थी इन सभी श्रेणियों के अंतर्गत नहीं आते या सरकारी कर्मचारी अथवा उनके आश्रित नहीं हैं, उन्हें एक हजार रुपए वार्षिक प्रीमियम पर योजना का लाभ मिल सकेगा।

ऐसे करें नामांकन

इस योजना के अंतर्गत ई-कार्ड जारी किए जाएंगे। इच्छुक आवेदक वेबसाईट www.hpbsy.in पर आधार कार्ड, राशन कार्ड, मोबाइल नंबर और श्रेणी प्रमाण पत्र अपलोड करवा कर योजना में अपना नामांकन करवा सकता है। यह नामांकन वह स्वयं या लोक मित्र केंद्र व कामन सर्विस सेंटर के माध्यम से भी कर सकता है। प्रीमियम भुगतान ऑनलाईन पेमेंट गेटवे के माध्यम से कर सकता है।

नामांकन अनुमोदित होने के उपरांत उसे दिए गए मोबाइल पर संदेश आएगा जिसकी सहायता से वह अपना ई-कार्ड डाऊनलोड कर प्रिंट करवा सकता है। लोक मित्र केंद्र या कॉमन सर्विस सेंटर में नामांकर करने पर 50 रुपए प्रति परिवार शुल्क अदा करना होगा। नामांकन वर्ष में केवल तीन माह जनवरी से मार्च के मध्य ही करवाया जा सकता है।

परिवार में सदस्य के विवाह अथवा जन्म एवं मृत्यु या दत्तक ग्रहण की अवस्था में लाभार्थी का नाम योजना में जोड़ने व हटाने के लिए विकल्प दिया जाएगा। नाम जोड़ने या हटाते समय प्रासंगिक दस्तावेज जैसे जन्म प्रमाण पत्र, विवाह, दत्तक ग्रहण, मृत्यु प्रमाण पत्र और राशन कार्ड वेबसाईट पर अपलोड करना होगा। योजना अवधि समाप्त होने से 15 दिन पूर्व लाभार्थी को नवीनीकरण करवाने के लिए पंजीकृत मोबाइल पर संदेश व लिंक भेजा जाएगा।

अस्पताल में लागू होगी कार्ड रहित प्रबंधन प्रणाली

him Care योजना के अंतर्गत अस्पताल में लाभार्थी की पहचान व आनलाईन प्रविष्टि के लिए कार्ड रहित प्रबंधन प्रणाली का उपयोग किया जाएगा। सहायक एजेंसी दावों को ऑनलाई जांच कर स्वीकृत या अस्वीकृत करेगी और उसी के अनुरूप संबंधित अस्पतालों को ऑनलाईन ही भुगतान किया जाएगा। आय़ुष्मान भारत के अंतर्गत पंजीकृत अस्पताल इसमें भी पंजीकृत माने जाएंगे और वही पैकेज दरें इस योजना के लिए उपयोग की जाएंगी। आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री आरोग्य मित्र हिम केयर का कार्य भी देखेंगे औऱ उन्हें हिम केयर साथी के रूप में योजना के अंतर्गत नामित किया जाएगा।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है