Covid-19 Update

1,54,664
मामले (हिमाचल)
1,15,610
मरीज ठीक हुए
2219
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

CM भूले वादाः नहीं हुई Unemployed JBT प्रशिक्षितों की बैच वाइज नियुक्ति

CM भूले वादाः नहीं हुई Unemployed  JBT प्रशिक्षितों की बैच वाइज नियुक्ति

- Advertisement -

Unemployed JBT Trained Teachers : धर्मशाला। सीएम वीरभद्र सिंह बेरोजगार घूम रहे जेबीटी प्रशिक्षित अध्यापकों को बैच वाइज नियुक्ति के आधार पर नौकरी देने का वादा शायद भूल चुके हैं। यदि सीएम यह वादा भूले नहीं होते तो बेरोजगार जेबीटी अध्यापकों की बैच वाइज नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू भी हो चुकी होती। यह शब्द बेरोजगार जेबीटी प्रशिक्षित अध्यापकों के एक प्रतिनिधिमंडल ने डीसी कांगड़ा और डिप्टी डायरेक्टर शिक्षा विभाग से मुलाकात के बाद जारी बयान में कहे।


बेरोजगार जेबीटी प्रशिक्षित अध्यापकों में रोष कहा सरकार को चुनावों में होगा नुकसान 

प्रतिनिधिमंडल ने डीसी और डिप्टी डायरेक्टर के माध्यम से सीएम को एक ज्ञापन भी प्रेषित किया। जेबीटी प्रशिक्षित बेरोजगार अध्यापकों का कहना है कि अपनी बैच वाइज नियुक्ति के संदर्भ में वह कई बार विभिन्न मंत्रियो, विधायकों और अन्य कांग्रेस नेताओं के साथ सीएम से मिलकर अपनी मांग रख चुके हैं। इस वर्ष 4 फरवरी को सीएम ने भी सीपीएस शिक्षा विभाग नीरज भारती की मौजूदगी में जेबीटी की बैच वाइज नियुक्तियां करने का आश्वासन दिया था। तीन माह बीत जाने के बाद भी कोई प्रक्रिया इस बारे में शुरू नहीं हो सकी है। जेबीटी प्रशिक्षित अध्यापकों को हर बार सिर्फ आश्वासन ही मिले हैं जो कि उनके साथ छलावा करने के समान है। प्रतिनिधिमण्डल का कहना है कि वर्तमान में प्रदेशभर में करीब 15 हजार जेबीटी प्रशिक्षित अध्यापक और उनके परिवार सरकार के इस रवैये से निराश हैं। यदि सरकार का यही रवैया रहता है तो इसका नुकसान सरकार को आगामी विधानसभा चुनावों में भुगतना पड़ेगा। उन्होंने मांग की है कि 700 बेरोजगार जेबीटी प्रशिक्षित अध्यापकों को बैच वाइज आधार पर नियुक्ति प्रक्रिया शुरू की जाए। प्रतिनिधिमंडल में राकेश कतनौरिया, प्रेमपाल सिंह, दीपक, प्रवीन धीमान, इंद्रजीत ठाकुर, वीरेंद्र पठानिया, संजय भारद्वाज आदि मौजूद रहे। 


JBT भर्ती को सीधी व बैच वाईज आधार पर करने की मांग

बद्दी। टेट पास करने वाले जेबीटी प्रशिक्षु संघ की जिला सोलन ईकाई द्वारा सरकार से भर्ती में बैच वाइज व सीधी भर्ती दोनों ही प्रक्रियाओं को अपनाने की मांग रखी गई है। प्रशिक्षुओं ने जेबीटी भर्ती की नई प्रक्रिया में टेट की मैरिट को प्राथमिकता देने का विरोध किया है। संघ का कहना है कि टेट के आधार को भर्ती का गलत मापदंड बताया है। संघ के अनुसार टेट में कुछ प्रशिक्षु पहली दफा भाग लेकर उत्तीर्ण होंगे, जबकि कुछ दूसरी या तीसरी बार में टेट में उत्तीर्ण होंगे। ऐसे में टेट की मेरिट प्रशिक्षुओं की पात्रता के साथ अन्याय है। संघ ने सरकार से इस नीति में बदलवा की मांग उठाई है। कहा कि हर बार कोर्ट के माध्यम से ही जेबीटी का फैंसला होता है। इस कारण भर्ती प्रक्रिया भी देरी से आरंभ होती है। संघ के प्रधान गुरदेव सिंह, गुरबचन सिंह, बलजीत सिंह, मनोहर, रेखा, कल्पना, बीरबल, धर्म सिंह, प्रवीन, राकेश, बंटी, राजेश, विशाल, बिंदू, अनिता ने कहा कि जेबीटी की भर्ती प्रक्रिया में हर साल सरकार फेरबदल करती है। इस कारण प्रशिक्षुओं को भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। भर्ती में सराकर को स्थाई व्यवस्था अपनानी चाहिए। 

खराब Result … रुक सकती है Teachers की इंक्रीमेंट

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है