Covid-19 Update

1,42,510
मामले (हिमाचल)
1,04,355
मरीज ठीक हुए
2039
मौत
23,340,938
मामले (भारत)
160,334,125
मामले (दुनिया)
×

साजिश या हादसा : अज्ञात व्यक्ति की Death पुलिस के लिए बन गई पहेली

साजिश या हादसा : अज्ञात व्यक्ति की Death पुलिस के लिए बन गई पहेली

- Advertisement -

धर्मशाला। मैक्लोडगंज पुलिस को घायलावस्था में मिले अज्ञात व्यक्ति की मौत कई सवाल छोड़ गई है, जिनके जवाब अब पुलिस को तलाशने हैं। सबसे पहला सवाल उस व्यक्ति की शिनाख्त करना है कि आखिरकार वह था कौन और कहां से आया था। वहीं उस अज्ञात व्यक्ति का खाई में गिरना महज एक हादसा था या फिर कोई सोची समझी साजिश और अगर यह साजिश थी तो किसने इस कृत्य को अंजाम दिया, यह भी पता लगाना पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती है।
  • शुक्रवार को गलू टेंपल के पास मिला था खाई में
  • उपचार के दौरान पीजीआई चंडीगढ़ में तोड़ा दम
अब यदि पुलिस उस व्यक्ति की शिनाख्त करने में सफल हो जाती है तो बाकी के सवालों का जवाब भी आसानी से मिल जाएगा। सनद रहे कि विगत शुक्रवार को मैक्लोडगंज पुलिस को सूचना मिली थी कि धर्मकोट-गलू टेंपल सड़क पर एक व्यक्ति खाई में गिरा है। मौके पर पहुंची पुलिस ने उस व्यक्ति को खाई से निकाला और सड़क तक पहुंचाया। फिर उसे उपचार के लिए जोनल अस्पताल धर्मशाला ले गई। वहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे डॉ राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज अस्पताल टांडा रैफर कर दिया गया।
टांडा में भी उस व्यक्ति की गंभीर हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने उसे पीजीआई रैफर कर दिया। मंगलवार को पीजीआई में उस व्यक्ति की मौत हो गई। उस व्यक्ति के पास से पुलिस को एक भी ऐसा दस्तावेज नहीं मिला है, जिससे कि पुलिस उसके बारे में कुछ पता लगा सके। अब सवाल यह उठ रहा है कि क्या सच में उसके पास कुछ भी दस्तावेज नहीं थे या फिर किसी ने साजिश के तहत सबकुछ निकाल लिया था। उसे लेकर पुलिस खुद भी संशय में है और कभी तो उसके तिब्बती मूल के होने की बात कर रही है तो कभी अन्य राज्य का निवासी बता रही है। पुलिस का कहना है कि तीन दिन तक तो शव को शिनाख्त के लिए रखा जाएगा। यदि फिर भी कोई शिनाख्त नहीं होती है तो शव का अंतिम संस्कार कर दिया जाएगा। पुलिस का यह भी कहना है कि उस व्यक्ति का डीएनए सुरक्षित रखा जाएगा, ताकि भविष्य में कोई उसकी पहचान का दावा करे तो दावे की पुष्टि की जा सके।
जिला कांगड़ा पुलिस बेशक बेहतरीन काम कर रही है, लेकिन जिला मुख्यालय में ही घटित कुछ वारदातों ने पुलिस को कटघरे में खड़ा करके रख दिया है। कांग्रेस नेता अरुण विष्ट पर बीच सड़क पर हमले के आरोपियों का पुलिस कई महीने बाद भी कोई सुराग नहीं लगा सकी है। बडोल में हुई एटीएम लूट का मामला भी पुलिस अभी तक सुलझा नहीं पाई है। अब मैक्लोडगंज में एक अज्ञात व्यक्ति का संदिग्ध परिस्थितियों में घायलावस्था में मिलना और उसकी मौत होना भी पुलिस के लिए पहेली बन गया है।


- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है