Covid-19 Update

2,18,523
मामले (हिमाचल)
2,13,124
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,694,940
मामले (भारत)
232,779,878
मामले (दुनिया)

गज़ब का मास्क=Unimask: टकराते ही मर जाएंगे वायरस, बार-बार धोने से भी नहीं होगा खराब

गज़ब का मास्क=Unimask: टकराते ही मर जाएंगे वायरस, बार-बार धोने से भी नहीं होगा खराब

- Advertisement -

नई दिल्ली। दुनिया भर में फैले कोरोना वायरस (Coronavirus) के कहर के बीच फेसमास्क की अहमियत आम लोगों के बीच काफी ज्यादा बढ़ गई है। इन दिनों बाजार में कई तरह के मास्क (Mask) मौजूद हैं, जो वायरस को रोकने के संबंध में कई तरह के दावे कर चुके हैं। वहीं, इनमें से कुछ मास्क कंपनियों द्वारा किए गए दावे गलत पाए जाने के बाद जनता भारी पशोपेश में फंसी हुई है कि कौन सा मास्क सच में बेहतर काम करता है। इस सब के बीच यूनिमास्क (Unimask) ने एक एंटी वायरल ट्रीटेड मास्क को पेश किया है। इस मास्क के संबंध में कंपनी की तरफ से इस बात का दावा किया गया है कि इस मास्क के संपर्क में आते ही वायरस तुरंत नष्ट हो जाएगा।

यहां जानें इस खास मास्क की अन्य ख़ासियतें

कंपनी की मानें तो इस मास्क को बाजार में बेहद ही किफ़ायती दाम में उपलब्ध कराया जाएगा। जिससे हर वर्ग के लोगों के बीच मास्क आसानी से उपलब्ध हो सके। इस मास्क को बाजार में 3 रंग सफेद, वाइन रेड और ब्लू में पेश किया गया है। ये मास्क ऑनलाइन मार्केटप्लेस और (www.unimask.in) पर उपलब्ध हैं। कंपनी की तरफ से इस मास्क को पेश करते हुए इस बात का भी दावा किया गया है कि 100 प्रतिशत कॉटन से तैयार ये मास्क न सिर्फ स्किन-फ्रेंडली हैं, बल्कि टिकाऊ और पर्यावरण अनुकूल भी है। मास्क के फैब्रिक पर एंटी-वायरल ट्रीटमेंट के साथ 100 प्रतिशत हाई क्वालिटी वाले कॉटन फैब्रिक का इस्तेमाल कर बनाए गए हैं। मास्क को ऑस्ट्रेलिया से उस हेल्थगार्ड टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर तैयार किया गया है, जिसे सार्स-कोव 2, एच1 एन1, बैक्टीरिया और अन्य नुकसानदायक वायरस को फैब्रिक के साथ संपर्क में आने के बाद कुछ ही सेकेंड में नष्ट करने के लिए जाना जाता है।

यह भी पढ़ें: Corona भी नहीं तोड़ पाया ये रिश्ता, गंभीर बीमारी से निकलकर मरीज ने Hospital में की शादी

वायरस को 99.94 प्रतिशत तक नष्ट करने में कारगर है मास्क

यह टेक्नोलॉजी फैब्रिक के संपर्क में आए वायरस को 99.94 प्रतिशत तक नष्ट करने में कारगर है। कंपनी का दावा है कि इस मास्क में स्टाइल, आराम और सुरक्षा का उपयुक्त समावेश है। यह मास्क हर तरह के आकार वाले चेहरे के लिए उपयुक्त हैं। मालूम हो कि इससे पहले भी कुछ कंपनियां वायरस को मारने वाला मास्क लॉन्च कर चुकी है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो वैक्सीन आने के बाद भी मास्क पहनना जरूरी होगा, क्योंकि वैश्विक टीकाकरण में लंबा समय लग सकता है। कंपनी द्वारा इस मास्क की कीमत 495 रुपए तय की गई है। कंपनी के सीईओ कपिल भाटिया ने इस मास्क के बारे में अधिक जानकारी देते हुए कहा कि ये मास्क मजबूत कॉटन फैब्रिक से बनाए गए हैं और इनमें समान कैटेगरी के अन्य मास्क की तरह कोई नुकसानदायक कम्पोनेंट शामिल नहीं है। ऑस्ट्रेलिया से नई हेल्थगार्ड टेक्नोलॉजी के साथ तैयार ये मास्क सार्स-कोव-2 वायरस के खिलाफ सुरक्षा सुनिश्चित करते हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whatsapp Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है