Covid-19 Update

1,64,355
मामले (हिमाचल)
1,28,982
मरीज ठीक हुए
2432
मौत
25,227,970
मामले (भारत)
164,275,753
मामले (दुनिया)
×

कृषि मंत्री की अपील – सर्दी और #Corona संकट को देखते हुए #किसान खत्म करें आंदोलन

सिंधु बॉर्डर पर तैनात दिल्ली पुलिस के दो आईपीएस अफसर कोरोना पॉजिटिव आने के बाद बढ़ी चिंता

कृषि मंत्री की अपील – सर्दी और #Corona संकट को देखते हुए #किसान खत्म करें आंदोलन

- Advertisement -

नई दिल्‍ली। दिल्ली बॉर्डर पर बैठे किसानों ने अपना आंदोलन तेज करने की ठान ली है वहीं सरकार कोशिश कर रही है कि किसी तरह किसानों (Farmers) को मनाकर आंदोलन रुकवाया जाए। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Union Agriculture Minister Narendra Singh Tomar) ने किसान यूनियन से आंदोलन को खत्‍म करने का आग्रह किया है। तोमर ने आज केंद्र सरकार का पक्ष रखते हुए कहा कि जिन कानूनों का किसान विरोध कर रहे हैं वह उनके ही हित के लिए काफी सोच-विचार कर सरकार ने बनाए हैं इसलिए आंदोलन की जगह वार्ता के जरिए इसे हल करने का प्रयास करें। कृषि मंत्री ने आग्रह करते हुए कहा, ‘मैं किसान यूनियन के लोगों को कहना चाहता हूं कि उन्हें केंद्र के साथ गतिरोध खत्‍म करना चाहिए। केंद्र सरकार ने आगे बढ़कर प्रस्ताव दिया है जिसमें उनकी मांगों का समाधान करने के लिए प्रस्ताव भेजा है। सर्दी का मौसम है और कोरोना का संकट है, किसान बड़े खतरे में हैं। आंदोलन से जनता को भी परेशानी होती है, दिल्ली की जनता परेशान हो रही है इसलिए जनता के हित में, किसानों के हित में किसानों को आंदोलन समाप्त करना चाहिए।’


यह भी पढ़ें: कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर बोले – किसानों के हित में नए कृषि कानून, #MSP नहीं होती प्रभावित

गौर हो कि सिंधु बॉर्डर पर तैनात दिल्ली पुलिस के दो आईपीएस अफसर कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) पाए गए हैं। इसकी वजह से सरकार की चिंता और बढ़ गई है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक एक डीसीपी और एक एडिशनल डीसीपी भी संक्रमित हैं। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कल ही दिल्ली पुलिस ने बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों के बीच गुलाब और मास्क बांटे थे साथ ही किसानों को कोविड टेस्ट करवाने का आग्रह किया था। किसानों ने कोविड टेस्ट करवाने से साफ तौर पर मना कर दिया। उसके बाद वहां मौजूद पुलिसकर्मियों की कोविड जांच करवाई गई, हालांकि पांच से सात पुलिसकर्मियों का टेस्ट करवाने के बाद जांच टीम को वापस भेज दिया गया।


कृषि मंत्री ने कहा, ‘नए कृषि सुधार कानूनों के तहत APMC मंडी में लगने वाला कमीशन देने की किसान को बाध्‍यता नहीं होगी। उन्हें अपनी फसल के लिए अपनी मर्जी से मंडी और दाम चुनने की पूरी आजादी होगी।’ उन्‍होंने कहा, “पीएम और मैंने बार-बार यह कहा है कि MSP चलती रहेगी, इस पर कोई खतरा नहीं है। इस वर्ष भी MSP पर फसलों की खरीद बहुत अच्छे से हुई है। MSP को हमने ही डेढ़ गुना किया है। अगर MSP को लेकर उनके मन में कोई शंका है तो हम लिखित आश्वासन देने को भी तैयार हैं।”

 

 

तोमर ने कहा, ‘भारत सरकार ने कानून बहुत सोच-समझकर बनाए हैं, किसानों के जीवन स्तर में बदलाव लाने के लिए बनाए हैं। सरकार बात करके उसमें (कानून) सुधार करने के लिए तैयार है।’ उन्‍होंने आगे कहा, ‘किसी भी कानून में प्रावधान पर आपत्ति होती है, प्रावधान पर ही चर्चा होती है। प्रस्ताव में हमने उनकी आपत्तियों का निराकरण करने की कोशिश की है। उन्हें आंदोलन समाप्त करके वार्ता का रास्ता अपनाना चाहिए।’

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है