Covid-19 Update

58,879
मामले (हिमाचल)
57,406
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,156,748
मामले (भारत)
115,765,405
मामले (दुनिया)

दिल्ली में अब एक दिन सिर्फ हिमाचली दवा निर्माताओं को

दिल्ली में अब एक दिन सिर्फ हिमाचली दवा निर्माताओं को

- Advertisement -

  • राष्ट्रीय ड्रग कंट्रोलर कार्यालय में समस्याओं की  होगी सुनवाई
  • सीडीसीएसओ के शिलान्यास के दौरान नड्डा ने की घोषणा

 Jagat Prakash Nadda Tour Baddi : बद्दी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जगत प्रकाश नड्डा का बद्दी का एक दिन का प्रवास हिमाचल के दवा उद्यमियों के लिए सौगात भरा रहा। दवा उद्यमियों को एक ही दिन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जगत प्रकाश नड्डा व हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री का सानिध्य मिल गया तो समस्या भी हल हो गई। हिमाचल के प्रति नड्डा कितने संजीदा है यह बात सीडीसीएसओ के शिलान्यास के दौरान सामने आई। नड्डा ने मंच से घोषणा की कि दिल्ली स्थित राष्ट्रीय ड्रग कंट्रोलर कार्यालय में एक दिन सिर्फ हिमाचल की समस्याओं की सुनवाई होगी, ताकि उनको बार बार दिल्ली न आना पडे़। इसके बाद नड्डा व कौल ने रॉयल पार्क होटल में दवा निर्माता उद्योग संघ द्वारा आयोजित औद्योगिक सेमीनार में उद्यमियों की समस्याएं सुनीं व कुछ का तो मौके पर ही निराकरण कर दिया।

सब उद्यमियों को प्रोडक्ट बनाने के देंगे लाइसेंस 

नड्डा ने कहा कि हिमाचल से संबंधित सभी शिकायतों व समस्याओं का निपटारा 28 से 30 मई के बीच किसी एक दिन में ही कर दिया जाएगा। वहीं लगातार विवादों में चल रहा व मनमानी के आरोप झेल रहा हिमाचल प्रदेश ड्रग कंट्रोलर कार्यालय की कार्यप्रणाली पर स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि अब हम सब उद्यमियों को प्रोडक्ट बनाने के लाइसेंस देंगे जो कि अन्य राज्यों में मिल रहे हैं। इससे उद्योगों का पलायन रुकेगा। वहीं साढे़ चार साल से ड्रग कंट्रोलर बद्दी कार्यालय आनलाइन न होने व तकनीक में पिछड़ने पर कौल ने कहा कि इस साल के अंत तक यह कार्यालय आनलाइन हो जाएगा। इसके अलावा दवा निर्माता उद्योग संघ ने केंद्रीय मंत्री से कहा कि उद्योगों की ज्वाइंट इंस्पेकशन का सरलीकरण किया जाए । वहीं उन्होने केंद्र व प्रदेशों में ड्रग ट्रिब्यूलन बोर्ड का गठन करने का मुद्दा जोरदार तरीके से उठाया।

संघ ने कहा कि केंद्र व प्रदेशों में ड्रग एडवाइजरी बोर्ड बनाकर उसमें उद्योग संगठनों के प्रतिनिधियों को शामिल किया जाए, ताकि विवाद उत्पन्न ही न हो। इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री हिमाचल प्रदेश कौल सिंह ठाकुर, शिमला सीट के सांसद वीरेंद्र कश्यप, हिमाचल ड्रग मैनुफैकचरिंग एसोसिएशन के प्रधान एमबी गोयल, कार्यकारी प्रधान राजेश गुप्ता, कोषाध्यक्ष संजय शर्मा, पूर्व प्रधान संजय गुलेरिया, श्याम लाल सिंगला, परमिंद्र सिंह, मनु जैन, लघु उद्योग भारती फार्मा विंग के प्रांतीय प्रधान सतीश सिंगला, सुमित सिंगला, राहुल बंसल, राजेश बंसल, ड्रग कंट्रोलर नवनीत मरावाह, गोविंद पांडे, रमन आंगरा, जोगिंद्र कैंथला सहित दवा उद्योगों के कई प्रतिनिधि भी शामिल थे। बाद में संस्था के प्रधान एमबी गोयल ने दोनों मंत्रियों का उनकी समस्याओं को सुनने व हल करने पर ह्रदय से आभार जताया।

Nadda बोले, वीरभद्र जी…शैक्षणिक संस्थान खोलने से कुछ नहीं होता, साधन भी होने चाहिए

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है