- Advertisement -

भोलेनाथ के इस मंदिर में प्रसाद नहीं, चढ़ाया जाता है झाड़ू

Unique shiva temple where pilgrims devote brooms 

0

- Advertisement -

आपको कोई भी बीमारी हो तो आप डॉक्टर के पास ही जाएंगे और अपना चेकअप करवाएंगे। लेकिन उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में लोग त्वचा संबंधित रोग से मुक्ति पाने के लिए डॉक्टर नहीं भोलेनाथ के दरबार जाते हैं। यहां खास बात यह है कि शिव के इस मंदिर में लोग रोग से मुक्ति के लिए पैसा या प्रसाद नहीं झाड़ू चढ़ाते हैं। मुरादाबाद के बीहाजोई गांव में एक शिव का मंदिर है, जिसका नाम शिव पतालेश्वर है। इस मंदिर में जाकर श्रद्धालु भगवान शिव को चढ़ावे के रूप में झाड़ू चढ़ाते हैं।
इस मंदिर में श्रद्धालु त्वचा संबंधित रोगों से मुक्ति पाने के लिए मन्नत मांगते हैं और अपनी मनोकामना को पूरा करने के लिए वह झाड़ू चढ़ाते हैं। इस मंदिर के पुजारी ने कहा कि यह मंदिर करीब 150 साल पुराना है। इस मंदिर में झाड़ू चढ़ाने की पंरपरा का पालन सदियों से होता आ रहा है और भगवान शिव के इस मंदिर में रोज शिवलिंग पर झाड़ू चढ़ाने के लिए भक्तों की भीड़ लगी रहती है। खासकर सोमवार के दिन यहां हजारों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं और प्रार्थना करते हैं कि उनकी त्वचा संबंधित सारी परेशानियां खत्म हो जाएं।

- Advertisement -

Leave A Reply