Covid-19 Update

59,118
मामले (हिमाचल)
57,507
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,228,288
मामले (भारत)
117,215,435
मामले (दुनिया)

अनकहे किस्से: ABVP के ज़रिए राजनीति में आए थे जेटली, 1974 में बने डीयू छात्रसंघ अध्यक्ष

अनकहे किस्से: ABVP के ज़रिए राजनीति में आए थे जेटली, 1974 में बने डीयू छात्रसंघ अध्यक्ष

- Advertisement -

नई दिल्ली। वरिष्ठ बीजेपी नेता और पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitley) (66) का शनिवार दोपहर 12.07 बजे एम्स में निधन (Passes Away) हो गया। सांस लेने में परेशानी और बेचैनी की शिकायत के बाद जेटली 9 अगस्त से एम्स के आईसीयू में भर्ती थे। जेटली के निधन की खबर सुनने के बाद भारत की तमाम हस्तियों ने श्रद्धांजलि अर्पित की है। इसी सिलसिले में आज हम आपको जेटली के जीवन से जुड़े कुछ अनकहे किस्से और तथ्य बताने जा रहे हैं। जो आपको उनकी शख्सियत और व्यक्तित्व से रूबरू कराएंगी।

यह भी पढ़ें :-live: जेटली के निधन पर माहौल गमगीन, कल होगा अंतिम संस्का

डीयू छात्रसंघ अध्यक्ष का सफर

बता दें कि दिल्ली विश्वविद्यालय (DU) से कॉमर्स और लॉ की डिग्री हासिल करने वाले पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 1970 के दशक में आरएसएस से संबंधित छात्र संगठन एबीवीपी के साथ राजनीतिक करियर शुरू किया और 1974 में छात्रसंघ अध्यक्ष बने थे। जेटली बीजेपी की यूथ विंग के अध्यक्ष भी रहे और 1991 में बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी में शामिल हुए थे। कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन को भारत के लिए बड़ी क्षति बताते हुए शनिवार को ट्वीट किया, ‘मेरे मित्र और दिल्ली विश्वविद्यालय के सीनियर अरुण जेटली के जाने से बेहद दुखी हूं।’ उन्होंने कहा, ‘राजनीतिक मतभेदों के बावजूद हम एक-दूसरे का सम्मान करते थे, और लोकसभा में उनके बजट पर अक्सर वाद-विवाद करते थे।’

जेटली के सरकारी बंगले से हुई थी सहवाग की शादी

क्रिकेट और क्रिकेटर्स के बेहद करीबी रहे जेटली आज भले दुनिया को अलविदा कह गए हों, लेकिन उनकी फेयर डिलीवरी को भूल पाना मुश्किल है। खिलाड़ियों के बीच भी जेटली की खूब बनती थी। नजफगढ़ के नवाब वीरेंद्र सहवाग ने तो अपनी वेडिंग सेरेमनी तक जेटली के सरकारी बंगले से की थी। अरुण जेटली क्रिकेट के काफी शौकीन रहे हैं। यह तस्वीर उनके छात्र जीवन की है जिसमें वह बॉलिंग मोड में दिखाई दे रहे हैं।

जब संगिनी ने दिए बजट को 10 में से 9 अंक

1982 में अरुण जेटली का विवाह संगीता जेटली से हुआ। वह कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गिरधारी लाल डोगरा की बेटी हैं। पिछले साल जब जेटली ने 1 फरवरी को वित्त मंत्री रहते हुए बजट पेश किया था तो संगीता ने उन्हें 10 में से 9 नंबर दिए थे। उन्होंने कहा था कि बजट बनाने में मानवीय चूक भी हो सकती है इसलिए वह एक नंबर कम देंगी। बता दें कि अरुण जेटली राजनेता व कुशल वकील के साथ-साथ पारिवारिक शख्स भी थे। वह अक्सर अपने परिवार के साथ छुट्टियां मनाते देखे गए थे। कई सार्वजनिक मौकों पर वह अपनी पत्नी और बेटे के साथ दिखते थे।

आपातकाल में किया जेल का सफर

देश में जब आपातकाल लगाया गया तो जेटली भी जयप्रकाश नारायण के आंदोलन में शामिल हो गए। युवा जेटली इस दौरान जेल भी गए और वहीं उनकी मुलाकात उस वक्त के वरिष्ठ नेताओं से हुई। जेल से बाहर आने के बाद वह जनता पार्टी में शामिल हो गए। 37 साल की उम्र में अरुण जेटली वीपी सिंह की सरकार में अडिशनल सॉलिसिटर जनरल बनाए गए थे। जनसंघ में शामिल होने के सवाल पर जेटली ने एक बार अंग्रेजी अखबार को बताया था कि जिन्होंने बंटवारे के दर्द को सहा था वह जनसंघ को समर्थन देता था। सुप्रीम कोर्ट के प्रख्यात युवा वकील होने के साथ-साथ बीजेपी में भी उनका कद बढ़ता गया।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है