×

थाली में जूठन छोड़ने वालों के लिए चलाई अनोखी मुहिम, अब वेस्ट नहीं होगा खाना

थाली में जूठन छोड़ने वालों के लिए चलाई अनोखी मुहिम, अब वेस्ट नहीं होगा खाना

- Advertisement -

हममें बहुत से लोगों को थाली में जूठन छोड़ने की आदत होती है। शादी या फिर किसा अन्य समारोह में खाने-पीने की चीजों की बर्बादी आम है। घरों में भी भोजन (Food) बर्बाद होते हुए आप रोज देखते होंगे। जबकि देश में बहुत सारे ऐसे लोग हैं जिनको भरपेट भोजन तक नसीब नहीं होता। ऐसे में अगर कोई ये मुहिम चलाए कि थाली में जूठन न छोड़े तो कितना अच्छा हो। राजस्थान (Rajasthan) के जोधपुर में एसी ही एक मुहिम शुरु की गई है। इसके लिए केटरर्स ने खास तरह की थालियां बनवाकर की है। इन थालियों पर बड़े अक्षरों में लिखवाया गया है ‘कृपया जूठा न छोड़ें’।


यह भी पढ़ें- मॉनसून में यूं रखें बालों और स्किन का ख्याल, आजमाएं ये तरीके


पहली बार समदड़ी कस्बे के श्री कुंथुनाथ जैन मंदिर के जयंतीलाल पारेख ने ऐसी 1000 थालियां बनवाई थीं। उनका मानना है कि थालियों पर लिखे इस तरह के आग्रह का मनोवैज्ञानिक असर होता है। लोग उतना ही भोजन थाली में डलवाते हैं जितना उन्हें खाना होता है। लोगों को जागरूक (Aware) करने की यह मुहिम इतनी तेजी से फैली कि एक महीने में ही ऐसी 10 हजार थालियां बनाई जा चुकी हैं। भोजन व्यर्थ न हो इसलिए दूसरे कई शहरों में भी इस मुहिम (Campaign) को आगे बढ़ाया जा रहा है। राज्य में आयोजित किए जाने वाले समारोहों के दौरान जूठा न छोड़ने के लिए लोगों को प्रेरित किया जा रहा है। लोगों को प्रयास की बदौलत लोग भोजन बरबाद नहीं कर रहे हैं।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है