×

हाथरस मामले में बड़ी कार्रवाईः SP, डीएसपी और इंस्पेक्टर सस्पेंड, होगा नार्को टेस्ट

डीएम पर भी हो सकती है कार्रवाई, फिलहाल लिस्ट में नाम नहीं

हाथरस मामले में बड़ी कार्रवाईः SP, डीएसपी और इंस्पेक्टर सस्पेंड, होगा नार्को टेस्ट

- Advertisement -

लखनऊ। हाथरस (Hathras) मामले में चारों तरफ से घिर रही यूपी (UP) योगी सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है। हाथरस के एसपी (SP), डीएसपी और इंस्पेक्टर को सस्पेंड (Suspend) कर दिया गया है। सभी का नार्को व पॉलीग्राफी टेस्ट होगा। सीएम योगी आदित्यनाथ ने एसआईटी (SIT) की प्रारंभिक जांच रिपोर्ट के आधार पर उक्त पुलिस अधिकारियों को सस्पेंड करने के आदेश जारी किए हैं। इसके अलावा थाने में तैनात पुलिस कर्मियों, मामले के आरोपियों के साथ-साथ पीड़ित पक्ष का भी पॉलीग्राफ और नार्को टेस्ट कराया जाएगा।


यह भी पढ़ें: ट्रक के #Tool_Box में ले जा रहे थे 14 किलो भुक्की: पुलिस ने 27 लाख कैश के साथ किया गिरफ्तार

एसपी विक्रांत वीर, सीओ राम शब्द, इंस्पेक्टर दिनेश कुमार वर्मा व एसआई जगवीर सिंह को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है। वहीं, सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हाथरस के डीएम (DM) पर भी कार्रवाई हो सकती है। फिलहाल इस लिस्ट में उनका नाम नहीं है। पर कहा जा रहा कि डीएम पर भी कार्रवाई तय है। सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) कभी भी आदेश जारी कर सकते हैं। बता दें कि हाथरस मामले में प्रशासन ने जिस तरह अपनी भूमिका निभाई उससे सीएम योगी आदित्यनाथ नाराज हैं। हाथरस के डीएम प्रवीण कुमार और एसपी ने जिस तरह मामले में कार्रवाई की है, उसके बाद से ही वो निशाने पर हैं। यही नहीं डीएम प्रवीण कुमार पर तो पीड़िता के परिवार ने गंभीर आरोप भी लगाए हैं। पीड़िता के परिजनों ने प्रशासन पर धमकाने और दबाव डालने का आरोप जड़ा है। इसका एक वीडियो (Video) भी पिछले कल सामने आया था। वीडियो में हाथरस के डीएम पीड़ित परिवार को धमकी देते दिख रहे हैं। वह रह रहे हैं कि मीडिया वाले दो-तीन दिन में चले जाएंगे, प्रशासन यहीं पर रहेगा। यह साफतौर पर धमकी की मानी जा सकती है।

आखिर क्योें पड़ी नार्कों और पॉलीग्राफ टेस्ट करवाने की जरूरत

एसआईटी के अलावा शीर्ष स्तर पर यह आदेश हुआ है कि जांच को साइंटिफिक तौर पर भी कराया जाए। नार्को या पॉलीग्राफ टेस्ट करवाकर बयानों की सच्चाई परखा जाना जरूरी है। एसआईटी ने रिकमेंडेशन योगी सरकार से की है। रिकमेंडेशन के बाद सरकार ने मामले से जुड़े सभी लोगों का नार्को व पॉलीग्राफी टेस्ट करवाने का फैसला लिया है। इस मामले में कई तरह के वीडियो वायरल हुए हैं और तथ्य भी। सभी सबूतों को लेकर साइंटिफिक जांच जरूरी है। इसी के चलते सरकार ने आरोपियों, पीड़ित परिवार के सदस्यों सहित पुलिस जांच टीम के सभी कर्मियों का नार्को और पॉलीग्राफ टेस्ट करवाने के आदेश जारी किए हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है