Covid-19 Update

1,98,313
मामले (हिमाचल)
1,89,522
मरीज ठीक हुए
3,368
मौत
29,439,989
मामले (भारत)
176,417,357
मामले (दुनिया)
×

बसंत बिहार सोसायटी में अवैध निर्माण तोड़ने आई एमसी टीम हंगामे के बाद लौटी

बसंत बिहार सोसायटी में अवैध निर्माण तोड़ने आई एमसी टीम हंगामे के बाद लौटी

- Advertisement -

शिमला। कसुम्पटी की बसंत बिहार सोसायटी में सोमवार सुबह नगर निगम (municipal Corporation) की टीम अवैध निर्माण ( illegal construction ) तोड़ने पहुंची। इस दौरान सोसायटी सदस्यों और नगर निगम की टीम के बीच काफी जोरदार हंगामा हुआ। सोसायटी के सदस्यों ने नगर निगम पर एकतरफा कार्रवाई करने के आरोप लगाए और जेसीबी (JCB) के आगे खड़े हो गए। इस बीच पुलिस की लापरवाही भी सामने आई। मौके पर कोई भी पुलिस का जवान मौजूद नहीं था। जबकि निगम ने पत्र लिखकर पुलिस को मौके पर आने को कहा था।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: बर्फबारी से अब तक 105 करोड़ का नुकसान, 75 मार्गों पर यातायात ठप

 


बता दें कि नगर निगम की एपी शाखा की टीम जेसीबी (JCB) और कर्मचारियों को लेकर सोमवार सुबह बसंत बिहार सोसायटी पहुंची। लेकिन सोसायटी के सदस्यों ने इनका रास्ता रोक दिया और कर्मचारियों को अवैध निर्माण नहीं तोड़ने दिया। इस बीच सोसायटी के सदस्यों ने बताया कि इस मामले में कोर्ट ने 9 जनवरी तक स्टे आर्डर जारी किए हैं। जिसके चलते नगर निगम की टीम को वापस लौटना पड़ा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page    

नगर निगम की टीम के सदस्यों ने बताया कि आयुक्त कोर्ट से इसे तोड़ने के आर्डर जारी किए हैं लेकिन सोसायटी के सदस्यों ने इसे नहीं तोड़ने दिया। दोपहर को सोसायटी की ओर से सूचना मिली कि कोर्ट से इस मामले पर स्टे दे दिया है। निगम की टीम ने स्टे आर्डर चेक किए और वापस लौट गई। सोसायटी के अंदर हुए अवैध निर्माण मामले में 9 तारीख तक कोर्ट ने मामले पर स्टे लगा दिया है। नगर निगम के आर्किटेक्ट प्लानर राजीव शर्मा ने कहा कि सोसायटी ने अवैध निर्माण के मामले में कोर्ट से स्टे ले लिया है। अब अगली सुनवाई के बाद ही इस पर कार्रवाई होगी।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Channel  

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है