Covid-19 Update

2,04,887
मामले (हिमाचल)
2,00,481
मरीज ठीक हुए
3,495
मौत
31,329,005
मामले (भारत)
193,701,849
मामले (दुनिया)
×

सावधान! घातक हो सकता है यूरिन इंफेक्शन

सावधान! घातक हो सकता है यूरिन इंफेक्शन

- Advertisement -

वैसे तो इसे आम समस्या ही माना जाता है पर वास्तव में यह बहुत नुकसानदेह हो सकता है और इसके लिए समय रहते सावधान हो जाना चाहिए। यह यूरिनरी कॉर्ड में होने वाला संक्रमण है। इसे यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (UTI) भी कहते हैं। यह जीवाणु जनित संक्रमण है जिससे यूरिनरी का कोई भी भाग प्रभावित हो सकता है। विशेषज्ञों का मानना है कि यूरिन में जीवाणु नहीं होते बल्कि यूरिन में जीवाणु की मौजूदगी से यह इंफेक्शन हो सकता है।

इंफेक्शन के दौरान मूत्रमार्ग और ब्लैडर में सूजन आ जाती है। यह शरीर में पानी की कमी,पथरी,लीवर प्रॉब्लम और शुगर की बीमारी से भी हो सकता है। इस बीमारी में यूरिन में दुर्गंध होती है ,बार-बार यूरिन आता है और ब्लैडर में दर्द रहता है। यूरिन का रंग पीला और पेट तथा मूत्र मार्ग में जलन होती है। अगर लगातार यूरिन आ रहा है तो निम्न बातों का ध्यान रखें।


– हर घंटे में पानी का एक ग्लास पिएं इससे ब्लैडर में जमा बैक्टीरिया बाहर निकल जाएगा और शरीर में पानी की कमी नहीं होगी।

– सिट्रिक फलों और सब्जियों का इस्तेमाल करें (नींबू,संतरे ,मौसमी ) इनका एसिड इंफेक्शन बनाने वाले बैक्टीरिया को खत्म कर देता है।

नारियल पानी इसकी बेहतर दवा है । इसे रोज पीने से शरीर को पानी और मिनरल्स तो मिलते ही हैं ,जलन भी कम होती है।

– आधा ग्लास चावल का पानी चीनी मिलाकर पीने से भी यूरिन में होने वाली जलन कम होती है।

– बादाम की पांच गिरी,7 छोटी इलायची तथा मिश्री एक साथ पीस लें और पानी में घोल कर पिएं।
– आंवले के चूर्ण में पानी मिलाकर पीने से भी लाभ होगा।

सावधानी बरतें और स्वस्थ रहें।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है