Covid-19 Update

1,37,766
मामले (हिमाचल)
1,02,285
मरीज ठीक हुए
1965
मौत
22,992,517
मामले (भारत)
159,607,702
मामले (दुनिया)
×

अमेरिका में आर्कटिक ब्लास्ट से पारा माइनस 50 पर लुढ़का, भारत पर होगा असर

अमेरिका में आर्कटिक ब्लास्ट से पारा माइनस 50 पर लुढ़का, भारत पर होगा असर

- Advertisement -

नई दिल्ली। समूचा अमेरिका इस समय आर्कटिक ब्लास्ट का शिकार है। अमेरिका के तीन प्रांतों- विस्कॉन्सिन, मिशीगन, अलाबामा में इमरजेंसी लगा दी गई है। वहां तापमान माइनस 50 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है। मौसम विभाग ने अगले दो दिन में शिकागो का तापमान -60 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की चेतावनी दी है। आर्कटिक ब्लास्ट के कारण बर्फीली हवाओं का रुख अब भारत की ओर है।


आर्कटिक से आ रही बर्फीली हवाओं के कारण अमेरिका का दो-तिहाई भाग हाड़ कंपाने वाली सर्दी की चपेट में है। कई जगहों पर तापमान -50 डिग्री सेल्सियस तक लुढ़क गया है। नेशनल वेदर सर्विस के मुताबिक, अगले दो दिनों में शिकागो अंटार्कटिका से भी ठंडा हो सकता है।

यह भी पढ़ें: बर्फबारी से लकदक हुई चोटियां, 5 फरवरी तक खराब रहेगा मौसम

क्या है आर्कटिक ब्लास्ट

उत्तरी ध्रुव पर मौजूद अंटार्कटिक महासागर पृथ्वी पर सबसे ठंडी जगह है। यहां हर वक्त तापमान तकरीबन -89।2 डिग्री सेल्सियस रहता है। ठंड में तापमान गिरने पर अक्षांश वाले इलाकों में बर्फीला तूफान चलने लगता है। इससे पूरे इलाके में भारी बर्फ जम जाती है। इसे आर्कटिक ब्लास्ट कहा जाता है।

शिकागो में लूटपाट

शिकागो में कुछ लोगों ने बंदूक दिखाकर दुकानों से गर्म कोट और कपड़े लूट लिये हैं। इस बीच, विस्कॉन्सिन, मिशीगन, अलबामा में इमरजेंसी लगा दी गई है। अमेरिका में ट्रेन संचालन बरकरार रखने के लिए पटरियों के किनारे आग जलानी पड़ रही है। शिकागो में जगह-जगह गैस फायर का इंतजाम किया गया है, ताकि बर्फ जमा न हो। लोग रेलवे स्टेशनों पर जहां-तहां फंसे हुए हैं।

उत्तर भारत पर हो रहा है असर

मौसम विभाग के मुताबिक, आर्कटिक से निकलने वाली ठंड दक्षिणी यूरोप से उत्तर भारत की तरफ आ रही है। मौसम विभाग ने कहा कि जनवरी का अंतिम पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत से टकराया है। इसका असर गुरुवार को महसूस किया जा सकता है। मौसम विभाग ने कहा कि पश्चिमी हिमालय क्षेत्र (जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड) में बर्फबारी हो सकती है। जमीनी इलाकों में बारिश होने की संभावना है। मौसम में बदलाव जम्मू-कश्मीर में सक्रिय हुए ताजा पश्चिमी विक्षोभ की वजह से हुआ है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है