Covid-19 Update

2,17,140
मामले (हिमाचल)
2,11,871
मरीज ठीक हुए
3,637
मौत
33,501,851
मामले (भारत)
229,513,714
मामले (दुनिया)

Uttarakhand: कोरोना संक्रमण के 45 नए केस आए सामने; CM ने दिए टेस्टिंग बढ़ाने के निर्देश

Uttarakhand: कोरोना संक्रमण के 45 नए केस आए सामने; CM ने दिए टेस्टिंग बढ़ाने के निर्देश

- Advertisement -

देहरादून। पहाड़ी राज्य उत्तराखंड (Uttarakhand) में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर जारी। सूबे में आज कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 45 नए मामले रिपोर्ट किए गए। जिनमें सबसे अधिक मामले 21 देहरादून, 14 ऊधमसिंह नगर, तीन-तीन अल्मोड़ा और हरिद्वार में सामने आए हैं। इसके अलावा दो टिहरी गढ़वाल, एक-एक मामले चमोली और रुद्रप्रयाग में सामने आए हैं। इन नए मामलों के सामने आने के बाद प्रदेश में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 3417 हो गया है, वर्तमान में 623 मामले एक्टिव हैं, जबकि 46 लोगों की मौत हो चुके हैं। 30 मरीज राज्य से बाहर चले गए हैं। वहीं सूबे में इलाज के बाद आज के दिन 12 संक्रमित पूरी तरह से ठीक हुए हैं। इसी के साथ प्रदेश में ठीक होने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 2718 हो गई है।

यह भी पढ़ें: ऊनाः अपनी ही पत्नी के साथ दुराचार का आरोपी है Corona पॉजिटिव, अंब थाना बंद

सीएम ने सीए होम क्वारंटाइन लोगों पर निगरानी और टेस्टिंग बढ़ाने के निर्देश

वहीं सूबे में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों के बीच प्रदेश के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) ने होम क्वारंटाइन (Home quarantine) किए गए लोगों की नियमित निगरानी और कोराना संदिग्धों की टेस्टिंग बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। शहरी क्षेत्रों में वार्डवार निगरानी मजबूत करने और पर्यटन क्षेत्रों में पर्यटकों व लोगों को शारीरिक दूरी व अन्य सुरक्षा मानकों के प्रति जागरूक करने व अन्य उपायों पर भी कार्य करने को कहा गया है। उन्होंने नैनीताल में एसडीआरएफ के सहयोग से 500 बैड का अस्पताल बनाने के निर्देश भी दिए। शनिवार को सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सचिवालय में कोरोना को लेकर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि होम क्वारंटाइन किए गए लोगों की निगरानी को मुख्य विकास अधिकारी स्तर के अधिकारियों को नोडल अधिकारी बनाया जाए। इन पर निगरानी के लिए पीआरडी, होमगार्ड व आशा कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई जाए। बुजुर्ग व बीमार लोगों पर लगातार नजर रखी जाए और उनके स्वास्थ्य की जानकारी लेना सुनिश्चित किया जाए। नियमों का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए। हाई रिस्क मामलों व आरोग्य सेतु एप की भी नियमित निगरानी की जाए।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है