×

प्यार है खुदा की नेमत

प्यार है खुदा की नेमत

- Advertisement -

प्यार एक शाश्वत भावना है …यही सोचें कि आप कितने खुश किस्मत रहे जो खुदा ने इतनी नेमत आप पर बरसाई। इस दिन को कुछ खास बनाने में आप कोई कसर न छोड़े।


क्लाडाफ सिंबलः हार्ट शेप पर मुकुट और उसे थामे दो नन्हें हाथ, यही है क्लाडाफ सिंबल। इसे आमतौर पर पेंडेंट, ईयरिंग्स इत्यादि में इस्तेमाल किया जाता है। क्लाडाफ सिंबल से सजी ज्वेलरी या अन्य डेकोरेटिव आइटम प्यार के तोहफे के रूप में लोकप्रिय हैं। पहली क्लाडाफ रिंग को लेकर एक कहानी प्रचलित है। रिचर्ड जॉएस नामक एक मछुआरा आयरलैंड स्थित अपने जन्मस्थान गॉलवे से दूर अफ्रीका में रहकर काम करता था। एक बार समुद्री लुटेरों ने उसका अपहरण कर लिया और उसे सुनारी का काम करने में लगा दिया। फलस्वरूप वह योग्य कारीगर बन गया। दास के रूप में बिताए गए दिनों में भी वह अपनी प्रेमिका मार्गरेट को नहीं भूला। रिचर्ड ने प्रेमिका मार्गरेट के प्रति अपने प्यार और समर्पण को अभिव्यक्ति देते हुए उसके लिए एक खास रिंग बनाई। जब कई साल बाद उसे दासता से मुक्ति मिली तो वह अपने घर गालवे, आयरलैंड लौट आया और जब मार्गरेट से मिला तो वह रिंग भेंट की।

क्यूपिड के तीर

प्राचीन रोमन धर्म के देवताओं में से एक हैं क्यूपिड। वह कामदेव की तरह प्रेम के देवता हैं। उनके समतुल्य प्राचीन यूनानी धर्म के देवता थे ईरोस। उनका एक और लातिनी नाम है, आमोर। ये रोमन देवता ज्यूपिटर और देवी वीनस के पुत्र माने जाते हैं। उनको एक पंख लगे बच्चे की तरह चित्रित किया जाता है, हाथ में धनुष होता है जिससे ये बाण छोड़कर मनुष्यों में प्रेम भाव जागृत करते हैं। कहा जाता है कि क्यूपिड का बाण लगने पर मनुष्य जिससे भी सबसे पहले मिलता है उससे अत्यधिक प्रेम करने लगता है। इन्हें कहानियों में अत्यधिक चंचल, चपल और रसिक वर्णित किया जाता है। इनके तूणीर में दो तरह के बाण होते हैं – स्वर्णिम नोक वाले बाण जिनसे प्रेम जागृत होता है और सीसे की नोक वाले बाण जिनसे घृणा उत्पन्न होती है। कई चित्रों में इनके तीरों की नोक को हृदयाकार भी दिखाते हैं। वैलेंटाइन दिवस के मौके पर खास तौर पर क्यूपिड के चित्र देखने को मिलते हैं। क्यूपिड चाहत और प्रणय निवेदन का प्रतीक है। रोमन कथाओं के अनुसार पंख वाले देवता क्यूपिड के हाथों में सदा तीर व धनुष रहता है। रोमन मान्यताओं के अनुसार मार्स और वीनस के मिलन से क्यूपिड का जन्म हुआ। यह माना जाता है कि प्यार अंधा होता है। फलस्वरूप अक्सर चित्रों में क्यूपिड की आंखें बंद नजर आती हैं। कथाओं के अनुसार क्यूपिड का तीर लगने के बाद व्यक्ति प्यार में पूरी तरह डूब जाता है।

लाल गुलाब…

यह प्रतीक है प्यार, सौंदर्य और पूर्णता का। चाहत का इजहार करने के लिए लोग लाल गुलाब देते हैं। यह तोहफा उन्हें भी दिया जाता है जिनके लिए आपके हृदय में सम्मान है और जिन्होंने साहस का परिचय दिया है। लाल गुलाब की संख्या भी मायने रखती है। प्यार के इजहार के लिए दिया जाता है सिर्फ एक गुलाब, आभार प्रकट करना हो तो दें एक दर्जन गुलाब, जबकि 25 गुलाब तब दिए जाते हैं, जब देनी हो बधाई।

गिफ्ट में क्या दें…

डायमंड्स– शाश्वत प्रेम और पवित्रता का प्रतीक हैं डायमंड। ग्रीक मान्यताओं के अनुसार देवताओं के आंसू हैं डायमंड्स। वहीं रोमन मान्यता के अनुसार टूटे हुए तारों के टुकड़े हैं डायमंड्स। इस बहुमूल्य रत्न की चमक और विशेषताएं, इसे खास बनाते हैं। सगाई पर हीरे की अंगूठी देने का रिवाज 15वीं सदी का है जब ऑस्ट्रिया के आर्कड्यूक मैक्समिलियन ने 1477 में मैरी ऑफ बरगंडी को डायमंड रिंग दी थी।

हार्ट शेप-जुबां से बोले बगैर ही प्रेमी तक पहुंचानी हो दिल की बात तो बेस्ट आइडिया है हार्ट शेप से सजे ग्रीटिंग्स व अन्य उपहार। इसका इस्तेमाल कब से आरंभ हुआ इस बारे में निश्चित तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता। यह समझा जाता है कि सातवीं शताब्दी ईसा पूर्व में प्राचीन रोमन शहर सिरीन में जो सिक्के चलन में थे उन पर हार्ट शेप उकेरा गया था। ट्यूलिप-इस फूल के साथ जुड़ी है प्रेमी जोड़े शिरीन और फरहाद की कहानी। तुर्की में यह कथा प्रचलित है कि फरहाद को प्यार हो गया था शिरीन से। जब फरहाद को पता चला कि शिरीन की मौत हो चुकी है तो वह गम में डूब गया और घोड़े पर सवार होकर एक ऊंची चट्टान के शीर्ष पर जाकर जान दे दी। कहा जाता है जहां-जहां उसके खून की बूंदे गिरीं, वहां पर लाल ट्यूलिप के फूल उग आए।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है