Expand

CM वीरभद्र सिंह बोले, उनकी हर संपत्ति पैतृक

CM वीरभद्र सिंह बोले, उनकी हर संपत्ति पैतृक

- Advertisement -

शिमला। ईडी यानि प्रवर्तन निदेशालय के आठ करोड़ की संपत्ति जब्त करने की कार्रवाई से सीएम वीरभद्र सिंह आहत हैं। उन्होंने कहा कि मेरी हर संपत्ति पैतृक है। इसमें कुछ भी ऐसा नहीं है कि बाद में बनाया गया हो। षड्यंत्र के तहत भाजपा नेताओं के कहने पर मेरे खिलाफ साजिश रची जा रही है। हमेशा सच की जीत होती है।सीएम ने सोमवार को सचिवालय में पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि उनके मामले न्यायालय में चल रहे हैं। ऐसे में चुनिंदा दिनों में ईडी की तरफ से कार्रवाई के मामले लाना भी साजिश का ही हिस्सा है।

  • money-launderingभाजपा के कुछ नेता रच रहे साजिश
  • मेरे परिवार की थी पदम पैलेस से लेकर हौलीलॉज सहित बागवानी, कृषि से लेकर वन तक की संपत्ति
  • साजिश के तहत ईडी इस पूरे मामले की जांच कुछ भाजपा नेताओं के कहने पर कर रही

सीएम ने इस बात को नकारा कि अगले साल होने वाले चुनावों के दृष्टिगत ये किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा के कुछ नेता ही इसकी साजिश रच रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरी पैतृक संपत्ति आजादी से पहले की है। उस समय मेरे परिवार के पास आज से ज्यादा संपत्ति थी। हालांकि बाद में कई सुधारों के चलते संपत्ति सरकार को दी गई है। इससे संपत्ति कम हुई है, लेकिन यह आरोप कतई भी सही नहीं है कि सपंत्ति आय से ज्यादा है। उन्होंने कहा कि पदम पैलेस से लेकर हौलीलॉज सहित बागवानी, कृषि से लेकर वन तक की संपत्ति मेरे परिवार की होती थी। इसके बाद राज्य में कई तरह के बदलाव हुए। इसमें मेरे परिवार की संपत्ति सिलिंग एक्ट से लेकर कई अन्य एक्टों में सरकार को गई है। ऐसे में यह कहना ही मेरी संपत्ति जायज नहीं है, पूरी तरह से गलत होगा।

edएक साजिश के तहत ईडी इस पूरे मामले की जांच कुछ भाजपा नेताओं के कहने पर कर रही है। इसे पूरी तरह से मेरे नाम को खराब करने का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन हिमाचल की जनता समझती है कि यह सोची समझी साजिश है। मेरे खिलाफ पहले भी षड्यंत्र रचे जा चुके हैं। हर बार न्यायालय से राहत मिली है। इस बार भी सच्चाई की जीत होगी। जिस दिन न्यायालय में सुनवाई होती है, उससे पिछले दिन ऐसी खबर जारी करवा दी जाती है। यह महज षड़यंत्र है, इसके खिलाफ कुछ नहीं है।
साजिश के तहत खराब किया माहौल
सीएम वीरभद्र सिंह ने कहा कि साजिश के तहत ही नैक की टीम के सामने विवि का माहौल खराब करने के लिए ऐसा किया गया है। विवि में एसएफआई और एबीवीपी के बीच में ही लड़ाई होती रही है। इस बार भी उन्होंने ही नैक की टीम के दौरे के दौरान माहौल खराब करने का षड्यंत्र रचा है। इस पर विवि प्रशासन को कड़े कदम लेते हुए सख्त से सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है