Covid-19 Update

58,460
मामले (हिमाचल)
57,260
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,046,914
मामले (भारत)
113,175,046
मामले (दुनिया)

रिंकू शर्मा हत्याकांड : परिजनों का दावा राम मंदिर चंदे का था विवाद, AAP बोली-सांप्रदायिक रंग ना दें

एक आरोपी की पत्नी को मृतक ने डेढ़ साल पहले दिया था अपना खून

रिंकू शर्मा हत्याकांड : परिजनों का दावा राम मंदिर चंदे का था विवाद, AAP बोली-सांप्रदायिक रंग ना दें

- Advertisement -

नई दिल्ली। बीजेपी (BJP) कार्यकर्ता और निजी अस्तपताल में लैब टेक्नीशियन का काम करने वाले रिंकू शर्मा की हत्या के मामले (Rinku Sharma Murder Case) ने तूल पकड़ लिया है। रिंकू शर्मा 25 साल का था, जिसकी बुधवार देर रात हत्या (Murder) कर दी गई। अब मृतक के परिजनों का कहना है कि रिंकू शर्मा की हत्या धार्मिक वजह (Religious Reasons) से हुई है। परिजनों का कहना है कि जब उस पर चाकू से हमला किया तो वो घायल होने और शरीर से खून बहने के बाद भी जय श्रीराम ही कह रहा। मृतक के भाई का कहना है कि राम मंदिर (Ram Mandir) को लेकर चंदे के लिए विवाद हुआ था। इस वजह से उसके भाई की हत्या (Brother Murder) की गई। मामले में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने मोहम्मद दानिश, मोहम्मद इस्लाम, जाहिद और मोहम्मद मेहताब को गिरफ्तार किया है। जाहिद स्टूटेंड है, जबकि मोहम्मद दानिश, मोहम्मद इस्लाम टेलर का काम करते हैं। रिंकू शर्मा दिल्ली के मंगोलपुरी (Mangolpuri) का रहने वाला था।

यह भी पढ़ें: #Uttarakhand चमोली आपदा : लापता लोगों के परिजनों ने किया प्रदर्शन, एनटीपीसी के GM को घेरा

इस पूरे मामले ने अब दिल्ली में सियासी तूफान खड़ा कर दिया है। बीजेपी के नेता कपिल मिश्रा ने भी इस मामले पर ट्विट किया और लिखा कि अगर रिंकू का नाम रेहान होता तो उसकी हत्या देश की सबसे बड़ी खबर होती, हर नेता उसके दरवाजे पर होता, रिंकू शर्मा जी की हत्या दिल्ली में ऐसा पहला अपराध नहीं, अंकित सक्सेना, ध्रुव त्यागी, डॉ नारंग, राहुल, अंकित शर्मा सब को ऐसे ही तो मारा गया, आखिर क्यों? #JusticeForRinkuSharma। इसके अलावा दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने भी मामले को लेकर बयान दिया है। आदेश गुप्ता ने कहा है कि इस घटना से मन दुखी है। श्रीराम मंदिर हेतु समर्पण निधि एकत्र करने पर एक युवक की विशेष समुदाय द्वारा हत्या कर दी गई। मैं दिल्ली पुलिस से दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग करता हूं। इकसे अलावा आम आदमी पार्टी ने कहा कि जिन्होंने भी यह किया है, उन्हें सख्त सजा दी जानी चाहिए, उन्हें जेल में डालना चाहिए और हिंदुस्तान के कानून में जो भी सबसे कठिन धारा है, उसके हिसाब से कार्रवाई होनी चाहिए। आम आदमी पार्टी यह भी कहना चाहती है कि इसे सांप्रदायिक रंग ना दिया जाए।

क्या है पूरा मामला
मृतक रिंकू के भाई के मुताबिक उसका भाई रिंकू बुधवार शाम पास ही एक जन्मदिन पार्टी में गया था। पार्टी से लौटते समय पड़ोस में ही रहने वाले एक लड़के और साथियों ने रिंकू को पार्क में पकड़ लिया। इसके बाद झगड़ा हुआ। रिंकू भाग कर घर आ गया और दरवाजा बंद कर लिया। मृतक रिंकू के भाई के मुताबिक आरोपी घर आए और रिंकू के साथ जमकर मारपीट की। इस दौरान आरोपियों ने घर के सिलेंडर की पाइप भी खोल दी। रिंकू को पीटते हुए बाहर ले गए और उसे चाकू मार दिया। मृतक की मां कहना है कि जब रिंकू घायल था तो भी जयश्री राम बोल रहा था। रिंकू की मां का कहना है कि इस झगड़े की शुरुआत करीब पांच-छह महीने पहले हुई थी। उस दिन राम मंदिर निर्माण के लिए दिए जलाए जा रहे थे। रिंकू की मां के मुताबिक उसके बाद यह झगड़ा शांत हो गया था। बताया जा रहा है कि मामले में हत्या के आरोपी की पत्नी को डेढ़ साल पहले रिंकू ने अपना खून भी दान किया था। उस समय आरोपी की पत्नी गर्भवती थी और उसे खून की जरूरत थी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है