Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

कमजोर विधायक के कारण हुई Kangra की दुर्दशा : Dr. Rajesh

कमजोर विधायक के कारण हुई Kangra की दुर्दशा : Dr. Rajesh

- Advertisement -

कांगड़ा। ट्रक चुनाव चिन्ह के साथ कांगड़ा विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे डॉ राजेश शर्मा ने कहा कि हमें चुनना उसको है जो लंबी पारी खेल सके तो जनता की आवाज बन सके। उन्होंने कहा अब वक्त ज्यादा बचा नहीं है, हमें निर्णय लेना है कि हमारे बच्चों का भविष्य क्या होगा, क्योंकि आज दिन तक किसी ने हमारे बच्चों की तरफ ध्यान नहीं दिया,नतीजन आज कांगड़ा में रोजगार के साधन नाम की कोई चीज नहीं है। उन्होंने कहा कि जो भी कांगड़ा से अभी तक विधायक चुना गया उसने विकास तो किया पर अपना, बीते पांच वर्षों में भी यही कुछ हुआ। उन्होंने कहा कि कांगड़ा के कमजोर विधायक के कारण ही हम लुटते रहे, पर अब ऐसा नहीं होने देंगे। डॉ राजेश ने कहा कि हमने अपने घोषणा पत्र में इस बात का उल्लेख किया है कि अगर आप विजयी बनाते हैं तो कांगड़ा में बड़ा उद्योग स्थापित करने के प्रयास होंगे, उससे हमारे बच्चों को घर-द्वार पर ही रोजगार मिल सकेगा। उन्होंने कहा आज स्थिति यह हो गई है कि हमारे बच्चे पढ़ने-लिखने के बाद भी बेरोजगारी की हालत में घूम रहे हैं, हमें सबसे पहले उनके लिए रोजगार के साधन ढूंढने हैं। डॉ राजेश आज अपने चुनावी अभियान के तहत जलाड़ी, भडियाड़ा, तियारा, मेरना, समीरपुर में बैठकों को संबोधित कर रहे थे। डॉ राजेश का इस दौरान जबरदस्त स्वागत हुआ। उनके काफिले के साथ जगह-जगह बाइक सवार आगे चलते रहे।

बगल वाले सब कुछ ले जाते रहे विधायक दुबके रहे

डॉ राजेश ने कहा कि हमने पिछले पच्चीस वर्षों में पांच विधायक बदल डाले, उसके पीछे का कारण यही था कि वह सभी अपने-अपने दायित्व निभाने में असफल रहे। उन्होंने कहा कि अब हमें बदलाव तो करना है पर अगले पच्चीस-तीस साल चलने वाले को चुनना है। उन्होंने कहा कि अगर हम ऐसा करेंगे तभी हमारा कांगड़ा आगे बढ़ पाएगा, वरना यह पीछे की तरफ चला जाएगा। उन्होंने कहा कि आज कांगड़ा की दुर्दशा देखनी हो तो बाजार में जाकर देख सकते हैं, अगर कांगड़ा में मां ब्रजेश्वरी देवी का मंदिर नहीं होता तो शायद बाजार में कुछ बचता ही नहीं। उसके पीछे का कारण हमारे यहां से कमजोर विधायक का होना रहा है। चूंकि बगल के विधानसभा क्षेत्र वाले सब कुछ यहां से ले जाते रहे और हमारे विधायक डर के मारे दुबके रहे।


उन्होंने कहा कि कांगड़ा को आज अगर जरूरत है तो दम रखने वाले विधायक की, जो विधानसभा में कांगड़ा के हितों की बात कर सके। यही नहीं आसपास के क्षेत्रों से भी कुछ छीन के ला सके। डॉ राजेश ने कहा कि इसके लिए विधानसभा में भेजे जाने वाला व्यक्ति पढ़ा-लिखा भी होना चाहिए। अगर हम पढे़-लिखे को चुनते हैं तभी वह हमारी बात समझ सकता है। उन्होंने कहा कि कांगड़ा की जनता ने जो मूड इस मर्तबा बनाया है उसके लिए हमें अगले दो दिन अपने-अपने क्षेत्र में डटे रहना है। इसके लिए हमें यह मान लेना चाहिए कि हम अपने घर को और मजबूत कर रहे हैं, क्योंकि इस मर्तबा कांगड़ा में एक इतिहास रचा जाएगा। डॉ राजेश ने आमजन का आहृवान किया है कि इस मर्तबा जो लहर आप सबने बनाई है उसी के अनुरूप नौ नवंबर को मतदान करें।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है