Covid-19 Update

2,01,210
मामले (हिमाचल)
1,95,611
मरीज ठीक हुए
3,447
मौत
30,134,445
मामले (भारत)
180,776,268
मामले (दुनिया)
×

बिग ब्रेकिंगः एडीसी निशांत सरीन ने हाईकोर्ट से वापस ली जमानत याचिका, गिरफ्तार

बिग ब्रेकिंगः एडीसी निशांत सरीन ने हाईकोर्ट से वापस ली जमानत याचिका, गिरफ्तार

- Advertisement -

शिमला। हाईकोर्ट (High Court) से अग्रिम जमानत याचिका वापस लेने के बाद असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर (एडीसी) निशांत सरीन को विजिलेंस (Vigilance) ने गिरफ्तार कर लिया है। असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर (एडीसी) निशांत सरीन ने गिरफ्तारी से बचने के लिए पहले अग्रिम जमानत याचिका सोलन कोर्ट में लगाई थी। सोलन कोर्ट में याचिका खारिज होने के बाद हाईकोर्ट (High Court) में याचिका दायर की थी।


यह भी पढ़ें: 
ब्रेकिंगः हमीरपुर पॉलिटेक्निक कॉलेज में रैगिंग, एफआईआर-जांच शुरू

 


हाईकोर्ट (High Court) में पहले दो बार जमानत याचिका पर सुनवाई टल गई थी। सुनवाई के लिए आज की तारीख निर्धारित की थी। जस्टिस संदीप शर्मा की अदालत में याचिका पर सुनवाई दो बजे हुई। जज ने कहा कि असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर (एडीसी) निशांत सरीन को कोर्ट में पेश तो होना पड़ेगा। पर सरीन के वकील ने कहा कि पुलिस उन्हें पेश नहीं होने देगी और कोर्ट के बाहर ही पकड़ लेगी। जज ने जांच अधिकारी डीएसपी विजिलेंस (DSP Vigilance) को कहा कि सरीन को कोर्ट में आने दिया जाए। करीब 3 बजकर 20 मिनट पर निशांत सरीन कोर्ट में पेश हुए। जमानत याचिका पर दोनों की तरफ के वकीलों की बहस हुई। बहसे के बाद न्यायाधीश संदीप शर्मा ने सुनवाई के दौरान प्रथम दृष्टया पाया था कि प्रार्थी से पूछताछ जरूरी है। कोर्ट ने सुनवाई के दौरान जुडे रिकॉर्ड का अवलोकन करते हुए पाया कि स्टेट विजिलेंस एंड एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम द्वारा गत 21 अगस्त को फार्मा कंपनियों की शिकायत पर मामला दर्ज किया था। अभियोजन पक्ष कि ओर से दलील दी गई है कि प्रार्थी निशांत सरीन पूछताछ की जानी बाकी है, इसलिए इसे जमानत पर रिहा नहीं किया जा सकता। इसके बाद आरोपी असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर ने अग्रिम जमानत याचिका वापस ले ली।  आरोपी निशांत सरीन को  विजिलेंस ने गिरफ्तार कर लिया।

बता दें कि राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने गत 21 अगस्त को राज्य दवा नियंत्रक कार्यालय के असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर (एडीसी) निशांत सरीन के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया था। मामला दर्ज करने के बाद उनके घर व ठिकानों पर दबिश दी थी। विजिलेंस (Vigilance) टीम ने फार्मा कंपनियों की शिकायत पर ड्रग कंट्रोलर के खिलाफ कार्रवाई की। आरोप है कि जांच टीम को दबिश के दौरान संपत्ति के साथ विदेशी शराब और अहम दस्तावेज हाथ लगे हैं। विजिलेंस (Vigilance) के अनुसार कंपनी के प्रबंधकों ने बताया था कि एक अधिकारी उनसे पैसों की मांग करता है। इसमें कभी एयर टिकट तो कभी होटल सहित अन्य ऐशो आराम के खर्च शामिल है। मामला दर्ज होने के बाद से ही आरोपी असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर (एडीसी) निशांत सरीन फरार था।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है