×

Vijay Mallya को London Court से बड़ा झटका, 1.55 अरब डालर की वसूली के मामले में याचिका खारिज

Vijay Mallya को London Court से बड़ा झटका, 1.55 अरब डालर की वसूली के मामले में याचिका खारिज

- Advertisement -

ईडी ने जब्त किए यूनाइटेड ब्रुअरीज लिमिटेडके 4.13 करोड़ से अधिक शेयर

नई दिल्ली। भारत से कई बैंकों का करोड़ों रुपए लेकर फरार उद्योगपति Vijay Mallya को बड़ा झटका लगा है। London की एक अदालत ने 1.55 अरब डालर से अधिक यानी 10 हजार करोड़ रुपए की वसूली के मामले में माल्या के खिलाफ फैसला दिया है। कोर्ट ने उनकी याचिका खारिज कर दी है। भारत के 13 बैंकों के समूह ने Vijay Mallya से 1.55 अरब डॉलर से अधिक की वसूली के लिए यहां एक मामला दर्ज कराया था। वहीं, प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने आज यूनाइटेड ब्रुअरीज लिमिटेड (यूबीएल) के 4.13 करोड़ से अधिक शेयर (यानी 15.63 प्रतिशत हिस्सेदारी) जब्त किए। इन शेयरों को एजेंसी को हस्तांतरित कर दिया गया है। ये शेयर कंपनी की आठ प्रवर्तक कंपनियों के पास थे।


Vijay Mallya पर भारत में करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी व मनी लांड्रिंग का आरोप है। न्यायाधीश एंड्रयू हेनशा ने माल्या की आस्तियों को जब्त करने संबंधी वैश्विक आदेश को पलटने से इनकार कर दिया। अदालत ने भारतीय अदालत के उस आदेश को सही बताया है कि भारत के 13 बैंक Vijay Mallya से 1.55 अरब डॉलर की राशि वसूलने के पात्र हैं। अदालत के फैसले से उक्त Indian Bank इंग्लैंड व वेल्स में माल्या की आस्तियों की जब्ती के फैसले का कार्यान्वयन कर सकेंगे। वैश्विक जब्ती आदेश के चलते माल्या अपनी संपत्तियों को न तो बेच सकता है न ही किसी तरह का और सौदा कर सकता है। भारतीय बैंकों के इस समूह में एसबीआई, बैंक आफ बड़ौदा, कॉरपोरेशन बैंक, फेडरल बैंक, आईडीबीआई बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, जम्मू कश्मीर बैंक, पंजाब एंड सिंध बैंक, पीएनबी, यूको बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया शामिल है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है