Covid-19 Update

58,543
मामले (हिमाचल)
57,287
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,079,094
मामले (भारत)
113,988,846
मामले (दुनिया)

मंडी के इस पूर्व सांसद के गांव तक नहीं पहुंच पाई सड़क

मंडी के इस पूर्व सांसद के गांव तक नहीं पहुंच पाई सड़क

- Advertisement -

मंडी। इस दौर में किसी भी नेता का घर ऐसा नहीं मिलेगा, जहां तक सड़क सुविधा न पहुंची हो। आज तो हर नेता अपने आंगन में गाड़ी खड़ी करके सीधे घर में प्रवेश करता है। लेकिन मंडी संसदीय सीट ( Mandi parliamentary seat) से एक मात्र दलित सांसद रहे स्वर्गीय गोपी राम का गांव आज भी सड़क सुविधा( Road facility) से नहीं जुड़ पाया है। इनका गांव किसी दुर्गम इलाके में नहीं बल्कि मंडी शहर और नेशनल हाईवे के साथ सटा ग्राम पंचायत भरौण का चडयाणा गांव है। चडयाणा गांव में स्वर्गीय गोपी राम का घर है।


यह भी पढ़ें :- सीमेंट लेकर हमीरपुर जा रहे ट्रक में लगी आग

गोपी राम 1952 में हुए पहले लोकसभा चुनावों में मंडी से दलित सांसद के रूप में चुने गए थे। उस समय एक सीट से दो प्रतिनिधियों को चुने जाने की व्यवस्था थी। रानी अमृत कौर के साथ गोपी राम भी चुने गए थे और वह पांच वर्षों तक सांसद रहे थे। उसके बाद प्रदेश सरकार( State Government) में भी गोपी राम ने विभिन्न पदों पर अपनी सेवाएं दी थी। चडयाणा गांव पूरी तरह से दलित बाहुल्य गांव है। यहां 90 प्रतिशत की आबादी दलित समुदाय की है। लेकिन गांव के लिए सड़क की कोई सुविधा नहीं। स्वर्गीय गोपी राम के पुत्र राजेंद्र मोहन बताते हैं कि नेशनल हाईवे से गांव तक पैदल ही जाना पड़ता है। यदि गांव में कोई बीमार हो जाए तो आज भी उसे उठाकर मुख्य सड़क तक पहुंचाना पड़ता है।

 

गांव के लिए मात्र तीन किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण होना है। बीच में कुछ भूमि वन विभाग ( Forest department) की आ रही है, जिस कारण सड़क निर्माण कार्य में बाधा उत्पन्न हो रही है। राजेंद्र मोहन बताते हैं कि वन विभाग की मंजूरी का इंतजार किया जा रहा है ताकि सड़क निर्माण कार्य को आगे बढ़ाया जा सके। गांव के लोग सड़क निर्माण का इंतजार कर रहे हैं क्योंकि इस वक्त आचार संहिता लगी है ,जिस कारण यह कार्य अभी नहीं हो सकता। ऐसे में यह चुनावों के बीतने का इंतजार कर रहे हैं। राजेंद्र मोहन का कहना है कि अगर चुनावों के बाद इस कार्य में तेजी नहीं लाई गई तो फिर गांव के लोग संघर्ष की राह पर उतर जाएंगे जिसके लिए शासन व प्रशासन ही दोषी होगा।

गोपी राम कांग्रेस पार्टी( congress party) से संबंध रखते थे और कांग्रेस पार्टी के टिकट पर ही सांसद चुनकर दिल्ली गए थे। यह एकमात्र मौका था जब इस सीट से दोहरी व्यवस्था के चलते किसी दलित को सांसद चुना गया था, उसके बाद फिर कभी यहां से दलित नेता को नहीं चुना गया। लेकिन जो चुनकर गए थे उनके गांव तक आज दिन तक सड़क नहीं पहुंच पाई है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है