Covid-19 Update

1,98,551
मामले (हिमाचल)
1,90,377
मरीज ठीक हुए
3,375
मौत
29,505,835
मामले (भारत)
176,585,538
मामले (दुनिया)
×

नायब तहसीलदार ने मांगी 25 हजार की रिश्वत तो ग्रामीण ने सिखाया ऐसा सबक

नायब तहसीलदार ने मांगी 25 हजार की रिश्वत तो ग्रामीण ने सिखाया ऐसा सबक

- Advertisement -

नई दिल्ली। रिश्वतखोरी के तो आपने कई मामले देखे होंगे और ऐसे लोगों को सबक सिखाने के लिए आज के समय में लोग विजिलेंस (vigilance) के पास शिकायत देने में भी नहीं कतराते। मध्य प्रदेश के विदिशा जिले में एक व्यक्ति से जब नायब तहसीलदार ने रिश्वत मांगी तो उसने शिकायत तो नहीं की लेकिन उसे ऐसा सबक सिखाया जो किसी ने सोचा न हो।

यह भी पढ़ें :- पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ में दो नामी अपराधी ढेर, दो सिपाही घायल

 



सिरोंज तहसील में नायब तहसीलदार ने जब एक व्यक्ति से 25 हजार रुपये की रिश्वत (bribe) मांगी तो उसने तहसीलदार की गाड़ी से अपनी भैंस को ही बांध दिया। गाड़ी से बंधी इस भैंस ने सोशल मीडिया से लेकर अखबारों तक में सुर्खियां बटोर ली हैं। सिरोंज के ही रहने वाले भूपेंद्र सिंह का कहना है कि वह पिछले छह महीने से अपने परिवार की जमीन के मामले के चक्कर में नायब तहसीलदार के पास आ रहा था, लेकिन वह काम करने से मना कर रहे थे और पैसों की मांग कर रहे हैं। भूपेंद्र ने कहा कि मेरे पास पैसा नहीं है, मेरे पास मेरी भैंस ही सबसे ज्यादा कीमती है इसलिए मैंने नायब तहसीलदार को वही दे दी।

हालांकि, भूपेंद्र सिंह के लगाए गए आरोपों को नायब तहसीलदार (Naib Tehsildar) सिद्धार्थ सिंघल ने नकार दिया है। सिद्धार्थ सिंघल का कहना है कि भूपेंद्र सिंह ये सब पब्लिसिटी के लिए कर रहे हैं। जब उनसे भूपेंद्र सिंह के पेंडिंग काम के बारे में पूछा गया तो उन्होंने चुप्पी साध ली। लंबी बहस के बाद भूपेंद्र सिंह अपनी भैंस वापस ले गए और सीएम के नाम एक ज्ञापन सब डिविजनल मैजिस्ट्रेट को सौंप गए हैं। एसडीएम का कहना है कि भूपेंद्र सिंह के द्वारा जो आरोप लगाए जा रहे हैं, उनकी जांच की जा रही है।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है