Covid-19 Update

2,21,826
मामले (हिमाचल)
2,16,750
मरीज ठीक हुए
3,711
मौत
34,108,996
मामले (भारत)
242,470,657
मामले (दुनिया)

#Mandi: नई पंचायत में मिलाए जाने को लेकर दो वार्डों के लोग हुए लामबंद, ज्ञापन सौंप दी यह चेतावनी

घिड़ी पंचायत में जाने से इंकार कर रहे बुलास और शकोहर वार्ड के ग्रामीणों ने दी यह चेतावनी

#Mandi: नई पंचायत में मिलाए जाने को लेकर दो वार्डों के लोग हुए लामबंद, ज्ञापन सौंप दी यह चेतावनी

- Advertisement -

सुंदरनगर। हिमाचल सरकार द्वारा प्रदेश में पंचायतों के पुनर्गठन (Reorganization of Panchayats) के बाद प्रदेश भर में घमासान मचा हुआ है। लोग सरकार को कई बार ज्ञापन भेज मांग कर चुके हैं कि उनकी पंचायत और उनके वार्डों को अलग ना किया जाए, लेकिन उसके बावजूद भी कुछ लोगों के हाथ निराशा ही लगी है। ऐसा ही मामला सुंदरनगर (Sundernagar)  विधानसभा क्षेत्र की रोहांडा पंचायत में भी देखने को मिला है। जहां रोहांडा पंचायत के दो वार्ड बुलास और शकोहर विधानसभा क्षेत्र नाचन में पढ़ते हैं, लेकिन रोहांडा पंचायत सुंदरनगर विधानसभा में है। इन दोनों वार्डों को घिड़ी पंचायत में मिलाया जा रहा है। इसको लेकर ग्रामीणों में भारी रोष है।

यह भी पढ़ें: पंचायतों के पुनर्गठन पर नहीं थम रहा घमासान, प्रस्तावों को चुनौती देने वाले खुलकर आ रहे सामने


ग्रामीणों ने रोहांडा पंचायत प्रधान प्रकाश चंद के माध्यम से सरकार को एक ज्ञापन (Memorandum) सौंप मांग कि है इन्हें घिड़ी में नहीं मिलाया जाये। ग्रामीणों ने मांग कि है कि अगर उन्हें रोहांडा पंचायत से अलग ही करना है तो उनकी अलग पंचायत बनाई जाए, क्योंकि यहां की आबादी 1200 के करीब है और वोटिंग 650 के करीब है। ग्रमीणों का कहना है कि अगर उन्हें जबरदस्ती घिड़ी पंचायत में मिलाया गया तो लोग सड़कों पर उतर कर आने वाले पंचायत चुनावों का बहिष्कार करेंगे। जिसकी पूरी जिम्मेवारी सरकार की होगी। शकोहर और बुलास वार्ड (Bulas and Shakohar wards) के लोगों ने बताया कि उनकी पंचायतों के 2 वार्डों को घिड़ी (Ghidi Panchayat) में मिलाया जा रहा है जिसको लेकर उन्होंने रोहांडा पंचायत के प्रधान को ज्ञापन सौंप मांग की है। जिसमें उनके वार्डों को अलग ना करने की अपील की गई है। उन्होंने कहा कि उन्हें रोहांडा में हर प्रकार की सुविधा उपलब्ध है। रोहंडा में बैंक, पोस्ट ऑफिस होने के साथ स्कूल और अन्य सुविधा उपलब्ध हैं। उन्हें यह सुविधा आसानी से उपलब्ध हो जाती हैं, इसलिए उन्हें अपने ही वार्ड में रखा जाये।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Channel

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है