×

Covid-19 Update

59,197
मामले (हिमाचल)
57,616
मरीज ठीक हुए
988
मौत
11,244,786
मामले (भारत)
117,749,800
मामले (दुनिया)

हिम केयर योजनाः साढ़े 21 करोड़ हुआ जमा, 34 करोड़ से अधिक हो चुका खर्च

हिम केयर योजनाः साढ़े 21 करोड़ हुआ जमा, 34 करोड़ से अधिक हो चुका खर्च

- Advertisement -

लेखराज धरटा/शिमला। सदन में नियम 130 के प्रस्ताव की चर्चा के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार (Health Minister Vipin Parmar) ने बताया कि आयुष्मान आरोग्य योजना के तहत 90 हजार लोगों को जोड़ा गया। हिम केयर योजना में जनवरी 19 से अभी तक 6 लाख 42 हजार परिवार शामिल हुए हैं। इस योजना से 21 करोड़ 55 लाख जमा हुआ, जबकि अभी तक 33 हजार 93 लोगों का इलाज किया जा चुका है, जिस पर 34.33 करोड़ खर्च हो चुका है।


यह भी पढ़ें: बिग ब्रेकिंगः हिमाचल में एससीए चुनाव को लेकर सदन में क्या बोली सरकार-जानिए

तीन मर्तबा हिम केयर (Him Care) में शामिल होने की तिथि बढ़ाई गई है। हिम केयर कार्ड के नवीनीकरण का कार्य निरंतर चलता रहेगा। इस योजना ने अभी तक कि योजनाओं के सारे रिकॉर्ड तोड़े हैं। 1800 बीमारियों का इलाज हिम केयर के तहत होता है। बीमारी के हिसाब से पैकेज दिया जाता है। पूर्व स्वास्थ्य मंत्री जगत प्रकाश नड्डा के प्रयासों से हिमाचल के टांडा व आईजीएमसी अस्पताल में कैंसर के इलाज के लिए आधुनिक मशीनरी आ चुकी है। जल्द ही कैंसर की आसान जांच व इलाज आधुनिक विधि से शुरू होगा।


जगत नेगी पर राकेश पठानिया का पलटवार

इससे पहले सदन में नियम -130 के अंतर्गत नरेंद्र ठाकुर ने प्रस्ताव किया, जिसमें प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही “हिम केयर” व सहारा योजनाओं पर सदस्यों ने विचार किया। इस दौरान विपक्ष भी सदन में वापस आ गया। कांग्रेस किन्नौर के विधायक जगत नेगी (Jagat Negi) ने चर्चा में भाग लेते हुए इन दोनों योजनाओं पर सवाल उठाया और इसको सही ढंग से चलाने की सलाह दी।

इस बीच उन्होंने कैंसर अस्पताल (Cancer Hospital) की स्थिति पर भी स्वास्थ्य मंत्री से सवाल पूछे। चर्चा को आगे बढ़ाते हुए नूरपुर के विधायक राकेश पठानिया ने जगत नेगी पर पलटवार करते हुए कहा कि आयुष्मान योजना के बाद हिम केयर योजना से लाखों लोग फायदा उठा रहे हैं। इन योजनाओं में हिमाचल के 80 फीसदी जरूरतमंद कवर हो चुके हैं। इस योजना को पंचायत स्तर पर ले जाने की जरूरत है। बीजेपी विधायक विक्रम जरियाल ने हिम केयर योजना को गरीब व जरूरतमंदों के लिए संजीवनी बूटी जैसा करार दिया।

जरूरी जांचों को भी इस योजना में शामिल किया जाए

बड़सर के कांग्रेसी विधायक इंद्र दत्त लखनपाल ने कहा कि आरोप प्रत्यारोप की राजनीति न कर सरकार जनता के हितों के लिए काम करे। समय-समय पर सभी सरकारों ने काम किया है, सब कुछ बीजेपी सरकार ने ही नहीं किया है। हिम केयर जैसी योजना का लाभ तभी मिलेगा जब वह अस्पताल (Hospital) में दाखिल हों। इससे पहले मरीजों का जांचों के ऊपर ही इतना पैसा खर्च होता है।

इसलिए जरूरी जांचों को भी इस योजना में शामिल किया जाए। दून के बीजेपी विधायक परमजीत सिंह पम्मी ने जहां हिम केयर व सहारा योजना की तारीफों के पुल बांधे तो वहीं कांग्रेस नादौन विधायक सुखविंदर सिंह सुक्खू, स्वास्थ्य ने इस योजना को घपले से बचाने की नसीहत दी व हिमाचल में कैंसर की जांच के लिए जल्द पैट स्कैन मशीन लगाने की मांग उठाई। नाचन बीजेपी विधायक विनोद कुमार ने कहा कि हिम केयर योजना के तहत अभी तक 33 हज़ार लोगों का इलाज हो चुका है। 6.20 लाख परिवार हिम केयर योजना में शामिल हुए हैं। दोपहर के भोजन के बाद सदस्य घुमारवीं के बीजेपी राजिंदर गर्ग, भोरंज की विधायक कमलेश कुमारी ने भी सरकार की हिम केयर व सहारा योजना की भूरी-भूरी सराहना की।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है