×

Viral चिट्ठी: दिव्यांग बच्चे को घर ले जाने के लिए मज़दूर ने चुराई साइकिल; लिखा- माफ कर देना

Viral चिट्ठी: दिव्यांग बच्चे को घर ले जाने के लिए मज़दूर ने चुराई साइकिल; लिखा- माफ कर देना

- Advertisement -

नई दिल्ली। पूरे भारत में जारी कोरोना वायरस (Coronavirus) के कहर के बीच इस महामारी के प्रसार पर लगाम लगाने के लिए लागू किया गया लॉकडाउन (Lockdown) पिछले डेढ़ महीने से भी अधिक समय से जारी है। इस दौरान अपने गांव-घर से दूर दूसरे राज्यों में फंसे हुए मजदूरों को लॉकडाउन में काम ना मिलने के कारण अपने राज्य वापस लौटना पड़ रहा है। इस सब के बीच सोशल मीडिया पर एक मजदूर पिता द्वारा लिखा हुआ पत्र खूब वायरल (Viral Letter) हो रहा है।


यह भी पढ़ें: Live: राहत पैकेज की चौथी क़िस्त; रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर होने का लक्ष्य, होगी 6 Airports की नीलामी

यहां जानें पूरा मामला

यह मामला बरेली के रहने वाले मोहम्मद इकबाल से जुड़ा हुआ है। इकबाल को भरतपुर (Bharatpur) से बरेली (Bareilly) आना था, उनके साथ उनका दिव्यांग बच्चा भी साथ में था। ऐसे में इकबाल तो पैदल चल लेते लेकिन बच्चा कैसे चलता। इसके लिए इकबाल ने रारह गांव से सोमवार देर रात साहब सिंह के घर से एक साइकिल चुराई। साइकिल चुराते वक्त इकबाल ने वहां एक पत्र छोड़ आया। अब यह पत्र सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। इस चिट्ठी में साइकिल ले जाने वाले शख्स ने अपनी मजबूरी गिनाते हुए साइकिल मालिक से माफी मांगी है। साथ ही उसे साइकिल ले जाने के लिए भी सूचित किया है।

यहां पढ़ें मजबूर पिता ने अपने पत्र में क्या लिखा

उसने चिट्ठी की शुरूआत में लिखा है कि मैं आपका कसूरवार हूं। मैं एक मजदूर हूं और मजबूर भी। मैं आपकी साइकिल लेकर जा रहा हूं। मुझे माफ कर देना। मेरे पास कोई साधन नहीं है और मुझे अपने विकलांग बच्चे को ​लेकर बरेली तक जाना है। आपका कसूरवार , एक यात्री , एक मजदूर । चिट्ठी में साफ झलक रहा है कि कैसे एक पिता को बेटे की मजबूरी के चलते इस तरह का कदम उठाना पड़ा है। वहीं साइकिल के मालिक साहबसिंह ने कहा कि मजबूर और मजलूम मोहम्मद इकबाल ने बेबसी में आकर ऐसा काम किया। अन्यथा बरामदे में और भी कई कीमती चीजें पड़ी थी पर उसने उन्हें हाथ नहीं लगाया।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है