×

वीडियो वायरल: जेब में कैश तो जेल में ऐश, देखें कैसे मजे ले रहे अपराधी

वीडियो वायरल: जेब में कैश तो जेल में ऐश, देखें कैसे मजे ले रहे अपराधी

- Advertisement -

लखनऊ। उतर प्रदेश के मऊ जेल (Mau Jail) से एक वीडियो वायरल (Video viral) हो रहा है। इस वीडियो में दिखाई दे रहा है कि जेल में कैदी सजा काटने के बजाय अय्याशी कर रहे हैं। जेल प्रशासन की धज्जियां उड़ा देने वाले इस वीडियो से खुलासा हो रहा की कैदी नशा करने के लिए चरस-गांजा-हेरोइन के साथ मोबाइल फ़ोन का भी लुत्फ़ उठा रहे हैं। जेल से एक कैदी ने वायरल हुए इस वीडियो में आरोप लगया है कि जेल प्रशासन के कुछ अफसर पैसा लेकर जेल में नशे से लेकर मोबाइल फ़ोन जैसी सुविधा देते हैं। कैदी ने जेलर लाल रत्नकार सिंह और उनके साथ जेल सुपरिटेंडेंट पर भ्रष्टाचार (Corruption) का आरोप लगाया है।


यह भी पढ़ें :-चैक बाउंस मामले में कोर्ट में पेश हुआ सात साल का बच्चा, पढ़े क्या है मामला

आरोप है कि इनके निगरानी में जेल में हीरोइन, गांजा का धंधा चलाया जा रहा है। वीडियो में कैदी के मुताबिक एक हजार हर महीने देने पर जेल में कैदियों को हीटर मोबाइल फ़ोन के अलावा 20 रूपए में कैंटीन नास्ते के सुविधा भी दी जाती है। कैदी ऐसा करने पर मजबूर हों इसलिए जेल में सार्वजनिक खाना गन्दा दिया जाता है। वहीं दस हज़ार महीने देने पर जेल में कैदियों को बिहार से लाये गए ड्रग्स जैसे गांजा हेरोइन इत्यादि बेचने की सुविधा भी दी जाती है। आगे उसने आरोप लगाए हैं की जो कैदी भी इस साठ-गांठ पर सवाल करता है उसे मारने की धमकी भी दी जाती है। वीडियो सामने आने के बाद मामले पर पुलिस प्रशासन ने एक टीम बनाई है जिसने मामले की जांच शुरू कर दिया है।

यह भी पढ़ें:- कर्नाटक संकट: कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार और मिलिंद देवड़ा मुंबई में गिरफ्तार

वहीं इस मसले पर एसपी अनुराग आर्य ने कहा की मामले की जांच जारी है। उन्होंने कहा की सोशल मीडिया के माध्यम से एक वीडियो मिला है। वीडियो बनाने वाले ने कहा है कि यह मऊ जेल का विडियो है। सोशल ग्रुप्स के माध्यम से इस वीडियो को संज्ञान में लिया गया। पिछले दस दिनों में मेरे और जिलाधिकारी के जरिए जेल में दो बार छापा मारा गया है। उसमें काफी सारी चीजें बरामद हुई है। मोबाइल फोन और चार्जर बरामद हुए हैं और खाना बनाने के बर्तन भी बरामद हुए है। तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई भी की गई है। वीडियो में कुछ जरूरी चीजें है। जिस पर जांच कराए जाने कि जरूरत है। LIU को इसकी जांच दी गई है, जो चौबीस घंटे में जांचकर रिपोर्ट देंगे।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है