Covid-19 Update

58,879
मामले (हिमाचल)
57,406
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,156,748
मामले (भारत)
115,765,405
मामले (दुनिया)

No. 1 अच्छी बात, पर असल परीक्षा अब होगी शुरू

No. 1 अच्छी बात, पर असल परीक्षा अब होगी शुरू

- Advertisement -

virat kohli: धर्मशाला। हम लोग नंबर एक पर है यह अच्छी बात है, लेकिन असल परीक्षा अब शुरू होने वाली है। विदेशों में जीतने पर मेरे चेहरे पर इससे दोगुनी मुस्कान होगी और इसी जीत से टीम नंबर वन कहलाएगी।अगर आपकी टीम की परफारमेंस अच्छी नही है तो आप कभी भी नबंर एक टीम नहीं बना सकते। यह बात टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने मैच जीतने के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही। विराट ने कहा कि इस मैच में जीत के लिए पूरे दल का योगदान रहा है न केवल टीम का। उन्होंने कहा कि बड़े गर्व का पल है और हमने पूरा सीजन अच्छी क्रिकेट खेली है। एक युवा टीम को आगे लाने का यही सही समय है। सबसे जरूरी बात यही थी कि कैसे हम मुश्किल हालातों का सामना करते हैं और इसे लेकर स्पोर्ट स्टाफ सहित सभी ने महत्वपूर्ण योगदान दिया।

virat kohli: कोहली बोले, विदेशों में जीते तो चेहरे पर दोगुनी होगी खुशी

स्पोर्ट स्टाफ का योगदान 40 फीसदी रहा बाकी का टीम के सदस्यों ने अपना 60 फीसदी योगदान दिया। उन्होंने कहा कि गेंदबाजों ने जिस तरह से प्रदर्शन किया है खासकर उमेश यादव और कुलदीप यादव का प्रदर्शन सराहनीय रहा है। उन्होंने कहा कि पांच गेंदबाजों के साथ मैदान में उतरने का निर्णय अजिंक्य रहाणे का था और उनके इस निर्णय की तारीफ करता हूं। विराट ने कहा कि इस सीरीज के बाद ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के साथ ऑफ फील्ड संबंधों पर जरूर असर पड़ेगा। इस सीरीज और पिछली सीरीज की जीत में काफी अंतर था, ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों ने हमें कड़ी टक्कर दी।

पहला टेस्ट हारने के बाद किसी भी टीम का मनोबल टूट जाता है, लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने वापसी करते हुए एक अच्छा कंपीटिशन दिया। पहले ही दिन ऑस्ट्रेलिया टीम को 300 पर ऑलआउट करने के बाद उनका हौंसला बढ़ गया था। मैदान से बाहर बैठना अच्छा नही लगता न ही ड्रेसिंग रूम में बैठ सकता हूं, साथी खिलाड़ियों के खेल को देखते हुए चार बार उत्सुक्ता में अपने चोटिल कंधे को झटका दे चुका हूं।

आखिरी मौके पर आकर Series हारने का दुख, बहुत कुछ सीखा भी

धर्मशाला। बॉर्डर गावस्कर सीरीज जीतने से हम आखिरी मौके पर चूक गए इस बात का सभी ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को दुख है। हम हारे हैं यह सही है लेकिन यह भी सच है कि हमने इस सीरीज से बहुत कुछ सीखा भी है जो कि भविष्य में हमारे काम आएगा। यह शब्द ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान स्टीवन स्मिथ ने मैच के बाद पत्रकार वार्ता के दौरान कहे। स्मिथ ने कहा कि हमारी टीम ने बेहतर खेल दिखाया इसके लिए उन्हें अपनी टीम के सदस्यों पर गर्व है।

  • Smith बोले, अच्छा खेलकर हारे, मुझे अपनी टीम पर गर्व 

भारतीय खिलाड़ी हमसे भी बेहतर खेले और इसके लिए वह बधाई के पात्र हैं। इस सीरीज में पैट कम्मिन्स और नाथन ल्यान ने जो प्रदर्शन किया है उससे हम भारतीय उप महाद्वीप के साथ-साथ अन्य स्थानों पर भी उम्मीद के साथ खेलने के लिए उतरेंगे।स्मिथ ने कहा कि उनकी टीम ने 137 रन पर आउट होने जे बाद भी जीत की उम्मीद नहीं छोड़ी थी क्योंकि हमने भारतीय टीम को सीरीज के पहले टेस्ट में भी इतने ही स्कोर के आसपास आउट कर दिया था।

मैदान पर हुई घटनाओं का दुख पर उन्हें खेल के साथ आगे नहीं ले जाना बेहतर

आज हमारा दिन नहीं था इसलिए हम जीत नहीं सके। वर्ना हमारी टीम इस छोटे लक्ष्य को बचाने में भी सक्षम है। इस सीरीज में मैदान पर खिलाड़ियों के बीच हुई कुछ नोक झोंक पर स्मिथ ने दुख जताया। स्मिथ ने कहा कि किसी समय परिस्थितिवश ऐसी घटनाएं हो जाती हैं। उन्होंने कहा कि इन घटनाओं को वहीं छोड़कर आगे बढ़ना चाहिए और खेल के साथ इन्हें आगे लेकर नहीं जाना खेल के हित में है। सीरीज में अपने बेहतर प्रदर्शन के बारे में स्मिथ ने कहा कि उन्होंने कहा कि मैंने मोर्चे की अगुवाई की और बतौर कप्तान एक उदाहरण पेश करने का प्रयास किया है। मैं सीख रहा हूं और लगातार सीख रहा हूं। जब तक मैं खेलूंगा तब तक सीखता रहूंगा। मेरा प्रयास यह रहेगा की जब तक भी खेलूं टीम के लिए बेहतर करूं और अन्य साथी खिलाड़ियों के लिए उदाहरण पेश कर सकूं।

 

बॉर्डर गावस्कर सीरीज पर India का कब्जा

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है