Covid-19 Update

59,148
मामले (हिमाचल)
57,580
मरीज ठीक हुए
987
मौत
11,229,271
मामले (भारत)
117,446,648
मामले (दुनिया)

मुश्किल में Virbhadra सिंहः ED ने पटियाला हाउस Court में दाखिल की Supplementary Chargesheet

मुश्किल में Virbhadra सिंहः ED ने पटियाला हाउस Court में दाखिल की Supplementary Chargesheet

- Advertisement -

नई दिल्ली। पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह और उनकी पत्नी प्रतिभा सिंह के लिए नए साल की शुरुआत ठीक नहीं रही है। प्रवर्तन निदेशालय ईडी ने पटियाला हाईकोर्ट में वीरभद्र सिंह, उनकी पत्नी प्रतिभा सिंह और चार अन्य के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग (आय से अधिक संपत्ति) के मामले में सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल की है। वर्ष 2015 में ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम कानून के तहत वीरभद्र सिंह के खिलाफ मामला दर्ज किया था, इसके बाद प्रवर्तन निदेशालय ने वीरभद्र सिंह और उनके परिवार के खिलाफ अपनी धनशोधन जांच के सिलसिले में पिछले साल 5.6 करोड़ रुपए कीमत की संपत्ति भी जब्‍त की थी।

इस मामले में सीबीआई भी वीरभद्र सिंह से पूछताछ कर चुकी है। स्पेशल जज संतोष स्नेही मान की अदालत में फाइल इस चार्जशीट में वीरभद्र सिंह की पत्नी के अलावा, छह अन्य लोग शामिल हैं। कोर्ट इस इस चार्जशीट पर 12 फरवरी को विचार करेगी। इस मामले में 83 साल के वीरभद्र सिंह के अलावाए यूनिवर्सल एप्पल एसोसिएट के मालिक चुन्नी लाल चौहान के अलावा एलआईसी एंजेंट आनंद चौहान के साथ-साथ प्रेम राज और लवण कुमार को आरोपी बनाया गया है। सभी के खिलाफ प्रीवेन्शन्स ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत आरोपी बनाया गया है। आरोपी आनंद चौहान के खिलाफ यह दूसरी चार्जशीट है।

ईडी का दावा, गवाहों के दर्ज किए बयान

ईडी ने अपनी जांच में दावा किया है कि उसने इस मामले में कई गवाहों के बयान दर्ज किए हैं, साथ ही बैंक ट्रांजेक्शन्स का भी चार्जशीट में हवाला दिया गया है। इससे पहले कोर्ट ने ईडी को मामले सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल करने के लिए भी समय दिया था और कहा था कि इस मामले में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल की जाए। वहीं, ईडी ने इस मामले की जांच के लिए 18 जनवरी को कोर्ट से एक महीने की और मोहल्लत मांगी थी। आरोपी आनंद चौहान को ईडी ने 9 जुलाई 2016 को गिरफ्तार किया था। सीबीआई ने भी इस मामले में एक अलग केस दर्ज किया है इसमें वीरभद्र सिंह और आनंद चौहान को भी आरोपी बनाया गया है। हालांकि, इस मामले में पूर्व सीएम और उनकी पत्नी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। सीबीआई की ओर से दर्ज केस में चुन्नी लाल, स्टांप पेपर वेंडर जोगिंद्र गाल्टा, एमडी तरानी इन्फ्रास्क्चर वकामुल्ला चंद्रशेखर और लवण कुमार रोच, प्रेम राज और राम प्रकाश भाटिया आरोपी हैं। सीबीआई का दावा है कि वीरभद्र सिंह ने केंद्रीय मंत्री रहते हुए आय से अधिक 10 करोड़ की कमाई की थी। दिल्ली हाईकोर्ट में ये मामले सुप्रीम कोर्ट की ओर से भेजा गया था। अप्रैल 2016 में कोर्ट ने सीबीआई द्वारा वीरभद्र सिंह की गिरफ्तार करने पर रोक लगाते हुए आदेश दिया था कि वह मामले की जांच में शामिल हों।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है