Covid-19 Update

2,06,369
मामले (हिमाचल)
2,01,520
मरीज ठीक हुए
3,506
मौत
31,726,507
मामले (भारत)
199,611,794
मामले (दुनिया)
×

Sukhu के बयान पर Virbhadra का पलटवारः किसी की मेहरबानी से नहीं बना CM

Sukhu के बयान पर Virbhadra का पलटवारः किसी की मेहरबानी से नहीं बना CM

- Advertisement -

Sukhu Statement : शिमला। सीएम वीरभद्र सिंह ने कहा है कि वे किसी की मेहरबानी से और जबरदस्ती सीएम नहीं बने हैं। वे जब भी सीएम बने हैं, वे चुनाव के माध्यम से ही सीएम बने हैं और इलेक्टिड हाउस ने सीएम चुना है।  विधानसभा में मीडिया से अनौपचारिक मुलाकात में वीरभद्र सिंह ने यदि कोई यह कहता है कि एक व्यक्ति को सीएम पद पर दो बार से ज्यादा बार नहीं रहना चाहिए तो इसके लिए भारत के संविधान को बदलना चाहिए। उनका कहना था कि संविधान में ऐसा कोई प्रावधान नहीं हैं।

एक व्यक्ति दो बार से ज्यादा न बने सीएम, ऐसा संविधान में कोई प्रावधान नहीं

गौर हो कि कुछ समय पहले पीसीसी चीफ ने बयान दिया था कि यदि दो बार अध्यक्ष रह चुके पीसीसी चीफ को बदलना चाहिए तो दो बार रहे व्यक्ति को भी सीएम पद से हटना चाहिए। सीएम वीरभद्र सिंह ने कहा कि वे इस मत के हैं कि विधानसभा चुनाव के साथ संगठन के चुनाव नहीं होने चाहिए। उनका कहना है कि संगठन के चुनाव या तो इस वर्ष के शुरू में हो जाते या फिर ये विधानसभा चुनावों के बाद हों। उन्होंने कहा कि सरकार और संगठन में अच्छे तालुकात है और पूरी तरह से तालमेल है और तालमेल और बेहतर करना चाहिए। उन्होंने कहा कि वे पीसीसी अध्यक्ष बनना नहीं चाहते। वे चार बार पीसीसी के चुने हुए और एक बार नॉमिनेटिड अध्यक्ष रह चुके हैं। वे वन मैन-वन पोस्ट के हिमायती हैं।


उनसे पूछा गया कि पीसीसी चीफ कहते हैं कि पार्टी हाईकमान ईमानदार व्यक्ति को अध्यक्ष पद से क्यों हटाएगा। इस पर सीएम ने कहा कि वे अपने आप को सर्टीफिकेट दे रहे हैं इसकी खुशी है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के जो-जो राष्ट्रीय नेता हिमाचल आ रहे हैं, उनका स्वागत है। उनका कहना था कि इन नेताओं के आने से कांग्रेस सरकार डरने वाली नहीं हैं और इनका कोई असर यहां होने वाला नहीं है। 

CU में देरी की वजह प्रदेश नहीं, केंद्र सरकार

वीरभद्र सिंह ने कहा कि केंद्रीय विवि के मामले में देरी हिमाचल सरकार के कारण नहीं, बल्कि केंद्र के कारण हो रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने केंद्रीय विवि के लिए भूमि के हस्तांतरण का मामला केंद्र को भेजा। इसके सारे कागजात भेजे फोरेस्ट क्लीयरेंस को भेजे हैं और राज्य सरकार की कोशिश है कि वहां से क्लीयरेंस जल्द से जल्द हो। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने जमीन छांटी और केंद्र की टीम ने उसका निरीक्षण किया और फिर फोरेस्ट क्लीयरेंस को मामला देहरादून भेजा। उन्होंने कहा कि हिमाचल सरकार इस मामले पर केंद्र से लगातार संपर्क में है।

पूर्व PM डॉ. मनमोहन सिंह ने की थी जीएसटी की शुरूआत

सीएम वीरभद्र सिंह ने कहा कि जीएसटी की शुरूआत पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह ने की थी। उनके कार्यकाल में इसके लिए कमेटी बनी थी और सारी प्रक्रिया शुरू हुई थी और चर्चा करते हुए आज इस स्तर पर पहुंचे हैं कि यह बिल राज्यों से पास हो रहा है। उन्होंने कहा कि अब इस बिल को देश की कई विधानसभाओं ने पास किया है और हिमाचल विधानसभा में कल पारित होगा।

ये भी पढ़ें  : Vidhansabha का विशेष सत्र : Karan Singh-मूलराज पाधा को श्रद्धांजलि

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है