Expand

वीरभद्र-सुक्खू मिल बैठकर बनाएंगे तालमेल

वीरभद्र-सुक्खू मिल बैठकर बनाएंगे तालमेल

- Advertisement -

यशपाल शर्मा/ शिमला। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बदलने को लेकर उठे विवाद के बीच संगठन ने आग में पानी डालने की कोशिश की है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव हरभजन सिंह भज्जी और मुख्य प्रवक्ता नरेश चौहान ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि सीएम वीरभद्र सिंह आदरणीय और सम्माननीय नेता हैं। प्रदेश अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू उनकी राय, बातों और निर्देशों को गंभीरता से लेते हैं। सरकार और संगठन में समन्वय का कोई अभाव नहीं है। सरकार और संगठन बेहतर तालमेल के साथ काम कर रहे हैं। congress-2अभी प्रदेश अध्यक्ष हिमाचल से बाहर हॉकी इंडिया की बैठक में भाग लेने गए हैं, मंगलवार तक वापस लौट आएंगे। उसके बाद सीएम वीरभद्र सिंह के साथ बैठकर सभी मुद्दों पर बात करेंगे। संगठन की बेहतरी के लिए हर मुद्दे पर खुलकर चर्चा होगी।

पांच-सात साल से पदों पर जमे नेताओं की होगी छुट्टी

सीएम से मिलकर सुक्खू संगठन की गतिविधियों को लेकर भी चर्चा करेंगे, साथ ही ये भी बताया जाएगा कि सरकार की नीतियों और उपलब्धियों को घर-घर तक पहुंचाने के लिए कौन से कदम उठाए गए हैं। उन्होंने कहा कि संगठन में फेरबदल निश्चित तौर पर होगा और उसके लिए भी अध्यक्ष की चर्चा सीएम से होगी। पांच-सात साल से पद पर जमे नेताओं की छुट्टी की जाएगी। संगठन की बेहतरी के लिए सीएम के हर सुझाव पर अमल होगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में मोदी के बोल, जुमलों के ढोल कार्यक्रम चलाया गया, जिसे भरपूर सफलता मिली। हर ब्लॉक और जिले में कार्यक्रम हुए, जिनमें कार्यकर्ताओं के साथ ही सभी नेताओं ने भी भाग लिया। इसमें केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की वादाखिलाफी की पोल खोली गई। ये कार्यक्रम इतना सफल रहा कि प्रदेश में बीजेपी बैकफुट पर चली गई। सरकार और संगठन दोनों का ही मकसद 2017 में कांग्रेस को फिर से सत्ता में लाना है। 21 सितंबर को पंचायती राज संगठन और 28 सितंबर को प्रदेश कांग्रेस कमेटी का जरनल हाउस रखा गया है। इसमें संगठन की बेहतरी पर चर्चा होगी।

दाल में कुछ काला या दाल ही काली

शिमला। चुनावी दहलीज पर खड़े हिमाचल में कांग्रेस घर में ही घिरती दिख रही है। सीएम वीरभद्र सिंह के कांग्रेस की संगठनात्मक कार्यप्राणाली पर सवाल उठाने के बाद दाल में कुछ काला नजर आ रहा है। संगठन जहां कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू के नेतृत्व में अपनी बीते लगभग चार साल के कामकाज की उपलब्धियां गिना रही है, वहीं कुछ मुद्दों पर बैकफुट पर भी है। जिसका उदाहरण कांग्रेस की प्रेस कॉन्फ्रेंस में रविवार को देखने को मिला। कॉन्फ्रेंस विशुद्ध रूप से सीएम के आक्रामक रुख से संगठन को हो रहे नुकसान के डैमेज कंट्रोल को लेकर बुलाई गई थी। इसमें कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता नरेश चौहान कई सवालों का जवाब देने से बचते रहे। उन्होंने सिर्फ वही कहा, जिसके लिए वे अधिकृत किए गए थे। उन्होंने सीएम के तीखे प्रहारों को ये कहकर काटने की कोशिश की, कि सब ठीक है।

वीरभद्र सिंह के कड़े रुख के बाद डैमेज कंट्रोल में जुटी कांग्रेस

congress-1सुझाव संगठन की बेहतरी को लेकर दिए जा रहे हैं, लेकिन वे ये कहकर फंस गए कि मतभेदों और मुद्दों को सीएम व कांग्रेस अध्यक्ष मिल बैठकर सुलझा लेंगे। इसका मतलब ये है कि कांग्रेस में सब ठीक नहीं है और वीरभद्र सिंह के हमले से संगठन बीच की राह पर चल पड़ा है। इससे साफ़ है कि कहीं न कहीं सीएम संगठन को भारी पड़ते दिख रहे हैं। जिससे दिल्ली दरबार में भी उनकी काट की जा रही है। इसमें तो कोई संदेह नहीं कि सुक्खू के अध्यक्ष बनने के बाद संगठन में काम हुआ है और नई स्फूर्ति भी आई है। नए चेहरों को मौका मिलने से ही प्रदेश में अभी तक सरकार विरोधी लहर नहीं है।congress-3 अब सुक्खू की सोच और संगठन की मजबूती उनकी कितना ढाल बनती है, ये देखने लायक होगा। बावजूद इसके सुक्खू अपने कार्यक्रमों को आगे बढ़ाने में लगे हैं और जल्दी ही पंचायत एक विकास अनेक व मोदी के बोल जुमलों के ढोल कार्यक्रम का दूसरा चरण शुरू किया जाएगा। ये कार्यक्रम अब पंचायत स्तर पर होंगे।

 

 

 

 

https://youtu.be/kgqj0ZJmpE8

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है