Covid-19 Update

2,18,693
मामले (हिमाचल)
2,13,338
मरीज ठीक हुए
3,656
मौत
33,697,581
मामले (भारत)
233,301,085
मामले (दुनिया)

बोले मंत्री वीरेंद्र कंवर- ‘कांग्रेस हो चुकी है मानसिक दिवालियापन का शिकार’

पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के निधन के बाद कांग्रेस में नेतृत्व की कमी

बोले मंत्री वीरेंद्र कंवर- ‘कांग्रेस हो चुकी है मानसिक दिवालियापन का शिकार’

- Advertisement -

ऊना। किन्नौर में 15 अगस्त को काले झंडे दिखाए जाने पर मंत्री वीरेंद्र कंवर (Virendra Kanwar) ने बयान दिया है। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) के मौके पर वे किसी दल के नेता बनकर किन्नौर (Kinnaur) नहीं गए थे, बल्कि अतिथि (Guest) बनकर समारोह में भाग लेने गए थे। कांग्रेस कार्यकर्ताओं (Congress Workers) द्वारा काला झंडा दिखाना उनके मानसिक दिवालियापन को दर्शाता है। मंत्री वीरेंद्र कंवर ने तंज कसते हुए कहा कि पूर्व सीएम राजा वीरभद्र सिंह (Former CM Raja Virbhadra Singh) के निधन के बाद कांग्रेस में नेतृत्व की कमी हो गई है। साथ ही सत्ता की चाहत ने कांग्रेस को मुद्दा विहीन भी बना दिया है। बीजेपी सरकार (BJP Government) के खिलाफ कोई मुद्दा नहीं होने के कारण कांग्रेस घटिया राजनीति (Bad Politics) पर उतारू हो गई है। इधर, कैग की रिपोर्ट (CAG Report) पर कृषि एवं पशुपालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने जवाब दिया है।

यह भी पढ़ें: बोले मुकेश अग्निहोत्री- कैग की रिपोर्ट ने जयराम सरकार को दिखाया आइना

कैग की रिपोर्ट अंतिम नहीं

वीरेंद्र कंवर ने कांग्रेसी नेताओं की बयानबाजी पर तीखा पलटवार किया है। कंवर ने कहा कि झूठी बातें करना विपक्ष को शोभा नहीं देता है। बयानबाजी से पहले कांग्रेस को यह जान लेना चाहिए कि मामला साल 2016 का है। बीजेपी की सरकार आते ही हमने इस पर संज्ञान लिया। और त्वरित कार्रवाई की। वीरेंद्र कंवर ने कहा कि कैग की रिपोर्ट कोई अंतिम रिपोर्ट नहीं होती है, बल्कि इसमें विभाग की कमियों को दर्शाया जाता है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में अधिकारियों ने किया चारा घोटाला, स्कूली वर्दी में भी लगी सेंध

 

 

चारा घोटाले का पकड़ा जा चुका है आरोपी अधिकारी

चारा घोटाले की आंच विभाग और मंत्री तक पहुंचने पर वीरेंद्र कंवर ने अपना बचाव किया। उन्होंने कहा कि मामला साल 2016 से 2018 के बीच का है। जांच के दौरान पता चला कि पशुपालन विभाग का एक एकाउंटेंट विभिन्न योजनाओं से आने वाले पैसे को अपने खाते में जमा करवाता था। करीब 60 लाख रुपए का घोटाला सामने आया था। उन्होंने कहा कि जैसे ही मामला उनके ध्यान में आया, तो उसपर तुरंत कार्रवाई करते हुए एफआईआर दर्ज की गई। वहीं, पूरी जांच के बाद जहां पैसे को रिकवर भी कर लिया गया है, वहीं कर्मी पर कार्रवाई भी की गई।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है