Covid-19 Update

58,645
मामले (हिमाचल)
57,332
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,112,241
मामले (भारत)
114,689,260
मामले (दुनिया)

मोदी के गृह राज्य में आधे सांसदों के काम से नाराज हैं लोग, चुनाव में हो सकता है नुकसान

मोदी के गृह राज्य में आधे सांसदों के काम से नाराज हैं लोग, चुनाव में हो सकता है नुकसान

- Advertisement -

नई दिल्ली। मोदी के गृह जनपद में आधे सांसदों के काम से जनता नाराज है। जनता की यह नाराजगी बीजेपी को चुनावों में नुकसान पहुंचा सकता है। गुजरात के इंटेलिजेंस ब्यूरो की रिपोर्ट माने तो अगर गुजरात की 26 लोकसभा सीटों पर बीजेपी को नया चेहरा नहीं मिला, तो फिर से उतनी सीटें न मिलने का खतरा बढ़ सकता है। हाल के 26 सांसद में से 50 फीसदी सांसद ने उनके संसदीय क्षेत्र में जो काम किए हैं उनसे जनता खुश नहीं है।

सांसद कभी मतदाताओं के बीच गए ही नहीं

कई सांसद ऐसे हैं जो क्षेत्र में मतदाताओं के बीच गए ही नहीं। इसलिए प्रदेश के कई जगहों पर एंटी-इनकंबेंसी की आहट सुनाई देती है। बीजेपी के संगठन के आंतरिक सर्वे में भी यह बात सामने आई है कि पार्टी को सौराष्ट्र और उत्तरी इलाकों की सीटों में भारी नुकसान हो सकता है।

कैंडिडेट बदलने की भी चुनौती

आईबी के रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि बीजेपी के पास ऐसी 10 सीटें हैं जहां कैंडिडेट नहीं बदल पाएंगे, क्योंकि इस चुनाव में उनके जीतने की संभावना अधिक है। ये सीटें मुख्य रूप से अहमदाबाद, गांधीनगर, सूरत और वडोदरा से हैं। बीजेपी को उत्तर और मध्य गुजरात की सीटों में आमूल परिवर्तन करना पड़ेगा। हालांकि मोदी सरकार राजकोट में एम्स देने के लिए बड़ा फैसला ले सकती है।

कांग्रेस पार्टी के नेताओं को पार्टी में शामिल करना हो सकता है घातक

बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि लोकसभा चुनाव जीतने के लिए हमारी पार्टी कांग्रेस के मजबूत कैंडिडेट को बीजेपी में शामिल करती है तो पार्टी के लिए ये स्टेप विनाशकारी माना जाता है। ऐसा करने से बीजेपी की छवि खराब होगी। बीजेपी में कई युवा कार्यकर्ता एसे हैं कि वह उनके इलाके में मजबूत हैं और चुनाव भी जीत सकते हैं। पार्टी के युवा नेताओं को लोकसभा में भेजना चाहिए।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है