Covid-19 Update

1,58,472
मामले (हिमाचल)
1,20,661
मरीज ठीक हुए
2282
मौत
24,684,077
मामले (भारत)
163,215,601
मामले (दुनिया)
×

अब तक नहीं मिली मजदूरी, कहीं दाल में कुछ काला तो नहीं

अब तक नहीं मिली मजदूरी, कहीं दाल में कुछ काला तो नहीं

- Advertisement -

कुल्लू। जिला कुल्लू की ग्राम पंचायत दियार के पंचायत भवन में घोटाले की बू आ रही है। वर्ष 2012-13 व 14 में किए गए निर्माण कार्य की मजदूरी मजदूरों को अभी तक नहीं मिली है। आरोप लगा है कि तत्कालीन प्रधान, सचिव ने नकली बिल बॉउचर भरकर मजदूरों की धन निकाल दिया है। इतने वर्षों से यह मजदूर अपनी मजदूरी के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। निर्माण कार्य में मिस्त्री रहे डिणे राम ने आरोप लगाया है कि तत्कालीन प्रधान व सचिव ने धन का दुरुपयोग किया है और मजदूरों को वेतन नहीं दिया है। इसकी शिकायत उन्होंने जहां जिला पंचायत अधिकारी को की है वहीं, अब तंग होकर मजदूरों ने विजिलेंस को भी इसकी शिकायत कर डाली है। डिणे राम ने बताया कि 80 हजार से अधिक धन पर कथित तौर पर कुंडली जमाई गई है और मजदूर दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं और उन्होंने बताया कि मजदूर अमर चंद, मनोज कुमार, धर्म चंद, इंद्रा देवी, पुष्पा देवी, पवना देवी, रती देवी, नैणा देवी,  सीता देवी, निशा देवी, तनुजा, माया, विद्या, माउलू राम व रावत बहादुर आदि मजदूर इस निर्माण कार्य में जुटे रहे और पंचायत भवन का अधिकतर काम इन मजदूरों के कंधे पर किया गया, लेकिन उन्हें मजदूरी नहीं दी गई है।


  • तीन वर्षों से वेतन के लिए दर-दर की ठोकरे खा रहे हैं श्रमिक
  • कुल्लू की दियार पंचायत के भवन निर्माण में घोटाला का अंदेशा
  • ​जिला पंचायत अधिकारी जल्द जांच होगी, नहीं बख्शे जाएगे दोषी

उन्होंने बताया  कि उनकी मजदूरी करीब 80 हजार बनती है, लेकिन प्रधान, सचिव ने मजदूरी देने से मना कर दिया है। इस विषय में उन्होंने जब जिला पंचायत अधिकारी को शिकायत भेजी तो उन्होंने कार्यालय आदेश संख्या 2173-47 दिनांक 15 जून 2016 तथा स्मरण पत्र संख्या 2570-2627 दिनांक 27 जुलाई 2016 व 3 अगस्त 2016 को पंचायत निरीक्षण को भेजा। इसके बाद दलिप सिंह पंचायत निरीक्षण विकास खंड कुल्लू को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया और आदेश दिए गए कि शीघ्र इसकी रिपोर्ट भेजी जाए, लेकिन अभी तक यह निरीक्षण नहीं हो पाया है।


डीणे राम ने आरोप लगाया है कि राजनीतिक दबाव के चलते यह मामला दबाया जा रहा है और पंचायत अधिकारी व कर्मचारी राजनीतिक दबाव के चलते इसमें कोताही बरत रहे हैं। डीणे राम ने बताया कि पंचायत भवन के ग्राउंड फ्लोर का कार्य दिहाड़ी पर किया गया है और इसके अलावा भगवान त्रिजुगी नारायण के प्रांगण में सुरक्षा दीवार की मजदूरी भी नहीं मिली है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि इसके अलावा मजदूरों ने रेत-बजरी की अनलोडिंग भी की है उसका मेहनताना भी नहीं दिया गया है। इसके अलावा कार्य ठेके पर दिया गया और मजदूरों को सक्वेयर फीट के हिसाब से काम करने को दिया गया।

 पंचायत भवन की दूसरी मंजिल का कार्य भी पूर्ण हुआ, लेकिन उन्हें मजदूरी तब भी नहीं मिली। उन्होंने कहा कि उस समय भी मजदूरों को ठगा गया कि दूसरी मंजिल का कार्य पूरा होने पर मजदूरी दी जाएगी, लेकिन फिर भी उन्हें मजदूरी नहीं दी गई। उधर, जिला पंचायत अधिकारी राजन कपूर ने कहा कि किन्हीं कारणों से जांच शीघ्र नहीं हो पाई है, लेकिन अब इस पर रिमांडर भेजा गया है और बहुत जल्दी जांच होगी और जो भी दोषी पाया जाएगा, उसे किसी भी सूरत में नहीं बख्शा जाएगा। 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है