Covid-19 Update

59,118
मामले (हिमाचल)
57,507
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,229,271
मामले (भारत)
117,446,648
मामले (दुनिया)

ITI सोलन के गर्ल्स व ब्वायज होस्टलों में छाया वार्डन का संकट, कोई नहीं ले रहा चार्ज

ITI सोलन के गर्ल्स व ब्वायज होस्टलों में छाया वार्डन का संकट, कोई नहीं ले रहा चार्ज

- Advertisement -

दयाराम कश्यपए सोलन। आईटीआई सोलन (ITISolan) के गर्ल्स व ब्वायज होस्टलों (Hostel) में वार्डन का संकट छाने लगा है। यहां मौजूद गर्ल्स होस्टल में तैनात महिला कर्मचारी का तबादला (Transfer) हो गया है। जबकि लड़कों के होस्टल का वार्डन आज रिटायर  हो रहा है। वहीं आईटीआई प्रशासन के पास मौजूदा समय में इन होस्टलों का अतिरिक्त चार्ज (Extra Charge) लेने के लिए कोई कर्मचारी तैयार नहीं हो रहा है। ऐसे में संकट की स्थिति पैदा हो गई है। इससे पूर्व इस मामले में आईटीआई के प्रधानाचार्य ने सरकार को पत्र लिखकर मामले में उचित कार्रवाई की मांग की है।

यह भी पढ़ें- उन्नाव कांड पर सपा-बसपा-कांग्रेस ने बीजेपी को घेरा, कहा- पुलिस जानती थी


जानकारी के अनुसार सोलन आईटीआई प्रदेश की अग्रणी आईटीआई में से एक है। यहां पर छात्र छात्राओं की काफी संख्या होने के कारण होस्टल भी पूरे भरे हुए हैं। लड़कों के होस्टल में मौजूदा समय में करीब 80 छात्र हैं। जबकि गर्ल्स होस्टल में 42 लड़कियां हैं। लड़कों के होस्टल के वार्डन का वर्तमान में चार्ज संभालने वाला कर्मचारी आज सेवानिवृत हो गया है। ऐसे में इस होस्टल का चार्ज अन्य कर्मचारी को देने के लिए आईटीआई प्रशासन लगा हैए लेकिन फिलहाल कोई भी इसका चार्ज लेने को तैयार नहीं है। ऐसी ही स्थिति गर्ल्स होस्टल में भी पैदा हो गई है। यहां पर वार्डन का पद ही नहीं है। आईटीआई में तैनात एसओटी महिला कर्मचारी को गर्ल्स होस्टल के वार्डन का चार्ज दिया गया थाए लेकिन अब इस महिला कर्मचारी का तबादला पालमपुर होने के कारण महिला होस्टल में भी वार्डन की कमी हो गई है।


अहम बात यह है कि आईटीआई में तैनात मौजूदा स्टाफ में से कोई भी दोनों होस्टल के वार्डन का चार्ज लेने को तैयार नहीं हो रहा है। ऐसे में आईटीआई प्रबंधकों की परेशानी दिनों दिन बढ़ती जा रही है। इस मामले में आईटीआई के प्रधानाचार्य चमन लाल तंवर से बात की गई तो उन्होंने बताया कि आज एक कर्मचारी सेवानिवृत हो गया है। जबकि महिला कर्मचारी का पहले ही तबादला हो चुका है। ऐसे में होस्टल चलाने में काफी दिक्कत आ रही है। उन्होंने कहा कि मामले में सरकार को पत्र भेजा गया हैए ताकि यहां पर नए कर्मचारियों की तैनाती वार्डन के तौर पर हो सके।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है