Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,782
मामले (भारत)
201,005,476
मामले (दुनिया)
×

Shimla ग्रामीण की कौन सुने…. पानी के लिए मची हाहाकार

Shimla ग्रामीण की कौन सुने…. पानी के लिए मची हाहाकार

- Advertisement -

water problem: शिमला। चुनावी वर्ष में जहां सीएम वीरभद्र सिंह पसीना बहा रहे है वहीं उनके विधानसभा क्षेत्र यानी शिमला ग्रामीण के लोग पानी की समस्या को लेकर परेशान हैं। कुछ लोग सीएम के समक्ष अपनी बात रख लेते हैं पर अधिकांश ऐसे हैं तो अपने गांव की इस समस्या को सरकार के समक्ष रख नहीं पाते। कुछ दिन पहले सीएम वीरभद्र सिंह अपने हलके के शकराह के दौरे पर थे। यहां पर एक स्कूल में कार्यक्रम था। सीएम के इंतज़ार में बच्चे गर्मी से बेहाल थे क्योंकि धूप से बचने का इंतज़ाम तक नहीं था।

बच्चों से पूछा गया तो पता चला उनके गांवों में पानी की किल्लत है.. हालांकि वीरभद्र सिंह के सामने न उन्होंने कुछ कहा और न ही कुछ कहना अपेक्षित था, लेकिन बच्चों के मन में एक बात तो थी कि वीरभद्र सिंह उनकी समस्या हल कर सकते हैं। यहां पर सीएम के आने से पहले एक जगह लोगों का जमावड़ा लगा हुआ था जो वीरभद्र को नहीं बल्कि उनके आसपास जमा हुए लोगों को कोस रहा था।


water problem: कतियोग, शेक व मरोग गांवों में पानी की भारी किल्लत

लोगों का कहना था कि यदि वीरभद्र सिंह खुद लोगों से सीधा संपर्क करें तो लोगों की समस्याओं का समाधान हो सकता हो लेकिन जो नेता उनके आसपास जमा हो गए हैं वो सूखी धार में भी उन्हें हरा-हरा दिखाते हैं। बच्चों से जब पूछा गया तो उन्होंने बताया कि कतियोग, शेक, मरोग जैसे गांवों में पानी की भारी किल्लत है। वहां पर कुछ लोग जो सीएम वीरभद्र सिंह को अर्ज़ी देने कि हिम्मत कर रहे थे उनकी समस्या भी पानी को लेकर ही थी। उनका कहना था कि अभी पिछली घोषणाएं ही पूरी हो जाए वहीं बहुत है।

स्कूल में कार्यक्रम के दौरान वीरभद्र सिंह ने 5वीं कक्षा के बच्चों कविता सुनाई..–जिसका हिंदी अनुवाद था –हम होंगे कामयाब …. लेकिन वो बच्चे जिनके गांवों में पानी की किल्लत है वो अपनी समस्या बताने में कामयाब न हो सके… शायद उन्हें पता भी न हो कि सरकार को समस्या बतानी पड़ती है। बच्चे वीरभद्र को देख कर खुश थे लेकिन उनके गांव की पानी की समस्या जस की तस है। शायद शिमला ग्रामीण के अन्य नेताओं को लोगों की समस्या समझ में आ जाए और वे इसका हल सीएम से मिल कर करवा दें।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है