Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,571,295
मामले (भारत)
197,365,402
मामले (दुनिया)
×

पानी को त्राहि-त्राहिः 34 साल पुरानी योजना ढो रही 3 हजार का बोझ

पानी को त्राहि-त्राहिः 34 साल पुरानी योजना ढो रही 3 हजार का बोझ

- Advertisement -

water problem : कांगड़ा। प्रदेश सरकार एक तरफ जहां लोगों को स्वच्छ व पर्याप्त पेयजल उपलब्ध करवाए जाने का दावा करती है, वहीं कुछ क्षेत्र ऐसे भी जहां पर करीब 35 साल पुरानी पेयजल स्कीमें लोगों की प्यास बुझा रही हैं। ऐसी स्कीमें आबादी के बोझ में दबकर रह गई हैं। ऐसा ही हाल निकटवर्ती समेला पंचायत का है। समेला पंचायत के करीब 3 हजार लोगों को इसी स्कीम से पानी दिया जा रहा है। आलम यह है कि एक दिन पानी आता है और 5 दिन पानी की छुट्टी। इसके चलते लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है। खासकर अब गर्मियों में दिक्कत और भी बढ़ती जा रही है।

  • समेला पंचायत में गहराई पेयजल किल्लत, एसडीओ से मिले ग्रामीण
  • 9 साल पहले बनाया टैंक बना सफेद हाथी, टैंक तक ही नहीं पहुंच पाया पानी

हालांकि पंचायत में पेयजल की समस्या दूर करने के लिए वर्ष 2007 व 2008 में एक नए टैंक का निर्माण समेला पंचायत घर के पास किया था, लेकिन लोगों को पानी मिलना तो दूर यह आज दिन तक यह टैंक ही पानी के लिए तरस गया है। वहीं अब लोगों के सब्र का बांध भी टूटने लगा है। आज समेला पंचायत के लोगों ने एसडीओ आईपीएच कार्यालय में आकर एसडीओ से बात की व अपनी समस्याओं से अवगत करवाया। पंचायत उपप्रधान रवि कुमार, वार्ड पंच प्रदीप व महिंद्र आदि का कहना है कि एक दिन पानी आता है और फिर चार दिन नहीं। ऐसे में पानी की समस्या गहराती जा रही है। उन्होंने कहा कि समेला पंचायत घर के साथ आईपीएच विभाग ने एक टैंक बनाया था, लेकिन वह टैंक भी सफेद हाथी साबित हो रहा है। टैंक से पानी की सप्लाई तो दूर टैंक तक ही पानी नहीं पहुंच पा रहा है। उन्होंने कहा कि यह बात समझ से परे है कि ऐसी जगह टैंक क्यों बना दिया, जहां पानी ही नहीं पहुंच पाए। उन्होंने कहा कि इस ममाले की भी जांच विभाग को करनी चाहिए। वहीं एसडीओ सुमित विमल कटोच का कहना है कि समेला के कुछ लोग उनसे मिले हैं। उन्होंने कहा कि मौके में देखा जाएगा। साथ ही लोगों की समस्या को हल कर दिया जाएगा।


पानी न मिला तो खाली घड़ों के साथ होगा प्रदर्शन

विकास खंड झंडूता के तहत आने वाली गर्म पंचायत बडोल में पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है। पंचायत के पांच गांव के 50 से ऊपर परिवार पानी की बूंद-बूंद को तरस गए हैं। टैंकों में पर्याप्त जल भंडार, वितरण प्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं। पंचायत के उपप्रधान शंकर सिंह ने बताया कि  स्टोरेज टैंकों में प्रयाप्त जल भंडारण मौजूद है,  लेकिन वितरण प्रणाली विवादों  के घेरे में है। जय कृष्ण, दया राम, अच्छरु राम ,कृष्ण लाल व नंद लाल आदि ने विभाग को चेताया है कि दो दिन के भीतर इन गांव में पानी की सप्लाई बहाल नहीं हुई तो विभाग के खिलाफ खाली घड़ों के साथ प्रदर्शन होगा। साथ राजमार्ग-103 पर भगेड़ चौक पर चक्का जाम होगा।  उधर, विभाग के अधिशाषी अभियंता अरविंद सूद ने बताया कि  समस्या का समाधान कर दिया जाएगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है