Covid-19 Update

2,05,017
मामले (हिमाचल)
2,00,571
मरीज ठीक हुए
3,497
मौत
31,341,507
मामले (भारत)
194,260,305
मामले (दुनिया)
×

पटरी पर लौटने लगी राजधानी Shimla की पेयजल व्यवस्था

पटरी पर लौटने लगी राजधानी Shimla की पेयजल व्यवस्था

- Advertisement -

water system shimla : लोकिन्दर बेक्टा/शिमला।  राजधानी शिमला की पेयजल व्यवस्था में अब सुधार होने लगा है। गुम्मा पेयजल स्रोत के बाद दूसरे बड़े पेयजल स्रोत गिरी से अब क्षमता के मुताबिक पानी लिफ्ट होने लगा है। गिरी पेयजल योजना में हो रही लीकेज को दूर करने से पेयजल व्यवस्था में सुधार हो रहा है। नगर निगम ने पेयजल स्रोतों को अपने अधीन लेने के बाद इस दिशा में कार्य किया और लीकेज को ठीक करने को बड़े स्तर पर कार्य शुरू किया और नई लाइन बिछाई।

नगर निगम ने 3.50 करोड़ रुपए किए खर्च

नगर निगम ने गिरी नदी में पहले चरण में दो किमी पाइप लाइन को बदला है। इसी में सबसे ज्यादा लीकेज थी और पानी बेकार बहता रहता था। लीकेज ऐसी थी कि फव्वारे निकलते थे और मेयर संजय चौहान और उनकी टीम ने इस लीकेज को ठीक करने का बीड़ा उठाया। नगर निगम ने वहां पर कार्य शुरू किया और दो किमी में नई लाइन बिछाी। इस योजना से पहले 10 एमएलडी तक पानी आता था और अब यह बढ़कर 18 एमएलडी पहुंच गया है। इस लीकेज को ठीक करने पर नगर निगम ने 3.50 करोड़ रुपए खर्च किया है।  इससे पहले पानी की पंपिंग का काम आईपीएच विभाग के पास था और उनको नगर निगम ने कई बार इसे ठीक करने को कहा था, लेकिन इसकी तरफ विभाग ने कोई ध्यान नहीं दिया।


नतीजतन शहर को पानी की कम सप्लाई हो रही थी। इसी कारण नगर निगम की सरकार के साथ तकरार भी होती थी। नगर निगम का तर्क था कि यह सारा कार्य एक ही एजेंसी के पास होना चाहिए। इस पर सरकार ने नगर निगम को पानी के वितरण के साथ-साथ पानी की पंपिंग का कार्य भी दे दिया। इसके लिए अलग से ग्रेटर वाटर सप्लाई विंग बनाया। इसके तहत नगर निगम ने पानी की लीकेज को ठीक करने का कार्य शुरू किया और इस योजना की कीलेज को ठीक किया है। इससे वहां से पानी की मात्रा बढ़ी है।  नगर निगम महापौर संजय चौहान ने कहा कि गिरी नदी से पानी की पाइपों में जो लीकेज थी, उसे ठीक किया गया है। पहले चरण में उस बड़े हिस्से की रिपेयर की गई। इसके तहत दो किमी की पाइपें ठीक की गई। उनका कहना था कि पाइपों की लीकेज ठीक करने से शिमला शहर को पानी की मात्रा बढ़कर 18 एमएलडी पहुंच गई। उन्होंने कहा कि इस समय गुम्मा पेयजल स्रोत से 14 से 16 एमएलडी पानी आ रहा है और अन्य दो योजनाओं से भी पानी की ठीक आपूर्ति हो रही है। उनका कहना था कि कुछ दिनों में पानी की सप्लाई में और सुधार होगा और सारी लीकेज ठीक होने के बाद शहर को और ज्यादा पानी मिलेगा।

यह भी पढ़ें : Cabinet Meeting 10 को, आउटसोर्स कर्मियों की पॉलिसी पर हो सकती है चर्चा

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है