Covid-19 Update

58,877
मामले (हिमाचल)
57,386
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,156,748
मामले (भारत)
115,765,405
मामले (दुनिया)

नए कपड़े खरीदने के बाद एक बार धोएं जरूर, नहीं तो होगी बड़ी प्राब्लम

नए कपड़े खरीदने के बाद एक बार धोएं जरूर, नहीं तो होगी बड़ी प्राब्लम

- Advertisement -

इन दिनों फेस्टिव सीजन शुरु हो चुका है। आपने अगर इस सीजन में अपने लिए नए कपड़ों की शॉपिंग की है तो पहनने से पहले एक बार उसने जरूर धो लें। आप सेच रहे होंगे कि नए कपड़े लिए हैं तो धोना जरूरी क्यों है। इसके पीछे कारण यह है कि अगर आप नए कपड़ों को बिना धोए पहन लेते हैं, तो ऐसा करने से आपको स्किन प्राब्लम हो सकती है।इसके पीछे कारण यह है कि जब आप नए कपड़े खरीदने जाते हैं तो बहुत सारे लोग इसे पहन कर ट्राई कर चुके होते हैं।

यदि किसी व्यक्ति को स्किन से संबंधित कोई समस्या होगी, तो उसका इंफेक्शन आपको भी हो सकता है। कई बार कपड़ों में इस्तेमाल होने वाले केमिकल के अंश भी कपड़ों में रह जाते हैं। ऐसे में जब आप बिना धोए कपड़ों को पहनते हैं, तो इन केमिकल्स के कुछ अंश त्वचा से रिएक्शन करते हैं। इससे एलर्जी होने का खतरा बढ़ जाता है। जानिए क्या क्या खतरें हो सकते हैं….

जब आप बिना धोए नए कपड़ों को पहनते हैं तो स्किन इंफेक्शन के साथ-साथ कई अन्य बीमारियों का खतरा पैदा हो सकता है। ऐसे में जरूरी है कि जब भी आप नए कपड़े खरीदें, तो उसे एक बार जरूर धो लें।

हमें यह नहीं पता है कि मॉल में या ट्रायल रुम में किसने कपड़ों को ट्रॉय किया है। हो सकता हो कि आप जिस कपड़ें को ट्राय कर रहें हो, आपसे पहले जिसने उसे ट्राय किया हो उसे कोई स्किन डिजीज हो और जब आप ने उसे ट्राई किया, तो उसके पसीने या इंफेक्‍शन के जर्म आपकी त्वचा पर आगए। ऐसे में आपको स्किन इंफेक्शन का शिकार होना पड़ता है।

बच्चों की त्वचा बहुत अधिक संवेदनशील होती है, इसल‍िए बच्‍चों के ल‍िए लाने वाले कपड़ों को गर्म पानी में धोने के बाद ही उन्‍हें पहनाएं। जिन लोगों की त्वचा संवेदनशील होती है। उन्‍हें तो हमेशा नया कपड़ा धोकर ही पहनना चाह‍िए।

कई ब्रांड कपड़ों की कलर‍िंग के ल‍िए डाई और केमिकल कलर का इस्‍तेमाल करते हैं। जो नेचुरल कलर होते हैं उनका कोई रंग नहीं होता है। इसमें इन कलर से कोई नुकसान नहीं होता है लेकिन कपड़ों की रंगाई, छपाई और डाई जैसी क्रियाओं की वजह से कपड़ों में कई सारे केमिकल्स लगाए जाते हैं। ऐसे में इन केमिकल्‍स की कुछ मात्रा कपड़ों में रह जाते है और बिना धोएं डायरेक्‍ट इन कपड़ों को पहनने की वजह से स्किन एलर्जी का कारण बन सकती है।

अक्‍सर लोग कपड़े खरीदने के ल‍िए बाहर से आते है जिसकी वजह से वो धूल, प्रदूषण, पसीने की वजह से बैक्‍टीर‍िया के सम्‍पर्क में आते है। लोग ऐसे ही कपड़ों को ट्राय कर लेते है जिस वजह से बैक्‍टीरिया कपड़ों में ही रह जाते हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है