×

बिगड़ा मौसम तापमान में गिरावटः रोहतांग व केलांग में गिरी बर्फ, शिमला में बारिश

बिगड़ा मौसम तापमान में गिरावटः  रोहतांग व केलांग में गिरी बर्फ, शिमला में बारिश

- Advertisement -

शिमला।  देश के 13 राज्यों में आंधी-तूफान की चेतावनी के बीच राजधानी शिमला सहित प्रदेश भर में मौसम खराब बना हुआ है। शिमला और इसके आसपास के इलाकों में सुबह से रूक-रुक कर बारिश हो रही है। प्रदेश के अन्य इलाकों में भी आसमान में गहरे बादल छाए हुए हैं। मौसम में आए इस बदलाव के चलते तापमान में चार से पांच डिग्री से अधिक तक की गिरावट दर्ज की गई है। प्रदेश के दुर्गम इलाकों किन्नौर व लाहुल- स्पीति में गत रात से बर्फ गिर रही है। विश्व प्रसिद्व पर्यटन स्थल रोहतांग दर्रे पर 7 व केलांग में अभी तक 3 सेंटीमीटर तक बर्फ दर्ज की कई है।वहीं निचले इलाकों में मौसम बिगड़ा हुआ है। कुल्लू जिला में दो दिनों से मौसम खराब चल रहा है और बीती देर रात से घाटी में ऊंचे पहाड़ों में हल्की बर्फबारी हो रही है और निचले इलाकों में रूक रूक कर बारिश हो रही है बर्फबारी के चलते लाहुल-स्पीति के चार बस रूटों पर यातायात प्रभावित हुआ है।
आरएम केलांग मंगल चंद मनेपा ने बताया कि लाहुल-स्पीति में निगम के चार बस रूट प्रभावित हुए है, जिसमें मनाली -केलांग ,कुल्लू-उदयपुर, धर्मशाला-त्रिलोकीनाथ व कुल्लू- दारचा बस रूट प्रभावित हुआ है। उन्होंने कहा कि दो निगम की बसों को मढ़ी से मनाली वापस भेजा है और दोपहर के समय लाहुल-स्पीति के अन्य बसों को रूटों पर बंद किया जाएगा। उन्होंने कहा कि केलांग में 3 इंच बर्फबारी हुई है, जिससे यातायात प्रभावित हुआ है।

 


गृह मंत्रालय की ओर से आशंका जताई है कि हिमाचल के कुछ स्थानों पर आंधी-तूफान के साथ ओले गिर सकते हैं। जाहिर है पिछले कुछ समय से प्रदेश भर में मौसम के तेवर तीखे हने हुए है। बारिश व तूफान से जहां ऊपरी इलाकों में सेब की फसल को नुकसान पहुंचा है वहीं मैदानी इलाकों में गेंहू की फसल भी बर्बाद हुई है।

डीसी ने दी स्थानीय लोगों व  पर्यटकों को सावधानी बरतने की नसीहत

डीसी यूनुस ने मौसम के खराब रुख को देखते हुए जिलावासियों और बाहर से आने वाले देश-विदेश के पर्यटकों को सावधानी बरतने की नसीहत दी है। उन्होंने बताया कि मौसम विभाग से प्राप्त चेतावनी के अनुसार कुल्लू जिला में 7 से 11 मई तक मौसम खराब रहने और भारी तूफान-बारिश की आशंका जताई गई है। इसको देखते हुए जिलावासी और बाहर से आने वाले पर्यटक सावधान रहें। इस दौरान विशेषकर ऊंची पहाड़ियों और दर्रों का रुख न करें। ट्रैकर्स भी किसी तरह का जोखिम न लें। डीसी  कहा कि किसी भी तरह की आपदा की सूचना तुरंत जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के टॉल फ्री नंबर 1077 पर दें।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है