×

J & K: आतंक को फारूक ने बताया हक की लड़ाई

J & K: आतंक को फारूक ने बताया हक की लड़ाई

- Advertisement -

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पू्र्व CM फारूक अब्दुल्ला ने आतंकवाद की तरफ बढ़ रहे युवाओं को लेकर कहा कि वे यह लड़ाई विधायक, सांसद और मंत्री बनने के लिए नहीं कर रहे, बल्कि वे अपने अधिकार और अपनी जमीन के लिए कर रहे हैं। उन्होंने शुक्रवार को कहा कि हमारे लड़के बलिदान दे रहे हैं, वे विधायक, सांसद या फिर मंत्री बनने के लिए यह नहीं कर रहे, बल्कि अपनी मांग को लेकर बलिदान कर रहे हैं- यह हमारी जमीन है और हम इसके मालिक हैं। युवाओं के आतंकवाद से जुड़ने के विषय में पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हमें उनकी संवेदना को ध्यान में रखना होगा। उनके हथियार उठाने की क्या वजह है। युवाओं को हथियार उठाने के लिए कौन सी बात बाध्य कर रही है, उसकी जांच के लिए एक उच्च स्तरीय जांच आयोग गठित किया जाना चाहिए।  


  • सेना प्रमुख  रावत द्वारा की चेतावनी को बताया गलत

आतंकवाद के खिलाफ अभियान में हस्तक्षेप करने को लेकर युवाओं को सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत द्वारा दी गई चेतावनी पर अब्दुल्ला ने कहा कि यह सही नहीं है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है क्योंकि यदि आपको समस्या का समाधान करना है तो हल बंदूक में नहीं बल्कि बातचीत में है। नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष ने जम्मू कश्मीर में शांति बहाली के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच वार्ता बहाल करने का भी आह्वान किया और कहा कि गोली के बदले गोली की नीति से बस राज्य में स्थिति खराब ही होगी। अब्दुल्ला ने यहां कहा कि यदि आप कश्मीर में स्थिति सुधारना चाहते हैं तो उसका बस एक रास्ता वार्ता शुरू करना है।  पूर्व सीएम ने कहा कि बुलेट का जवाब बुलेट नहीं हो सकता। 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है