×

Dhumal के सवालः Virbhadra ने धर्मशाला में Capital के लिए कौन सा Secretariat बनाया

Dhumal के सवालः Virbhadra ने धर्मशाला में Capital के लिए कौन सा Secretariat बनाया

- Advertisement -

हमीरपुर। दूसरी राजधानी पर शुरू हुआ बीजेपी-कांग्रेस का घमासान थमता नजर नहीं आ रहा है। सीएम वीरभद्र सिंह पर पलटवार करते हुए नेता विपक्ष प्रेम कुमार धूमल ने एक बार फिर से हमला बोला है। धूमल ने कहा है कि सीएम वीरभद्र सिंह अनाप-शनाप बयानवाजी के लिए जाने जाते हैं, लेकिन उनके द्वारा झूठा दोषारोपण करना उनके पद को शोभा नहीं देता है और न ही उनकी आयु को। धूमल ने वीरभद्र सिंह पर सवाल दागते हुए कहा कि वह बताएं धर्मशाला को दूसरी राजधानी बनाने के लिए उन्होंने कौन सा सचिवालय वहां बनाया है? उन्होंने कहा कि धर्मशाला में दो मिनी सचिवालय हैं, जिनमें से एक बीजेपी सरकार ने 1998 से 2003 के बीच बनाया था, जिसका शिलान्यास तथा निर्माणकार्य पूर्ण करके उद्घाटन उसी कार्यकाल में हुआ था।


  • कहा, धर्मशाला के दोनों मिनी सचिवालय बीजेपी सरकार के वक्त ही बने
  • पूछा क्या दो माह के लिए सारे कार्यालय-अधिकारी धर्मशाला आ जाएंगे
  • क्या वीरभद्र धर्मशाला में विधानसभा का बजट सत्र करवाने को तैयार हैं
  • सीएम या तो कोरी घोषणाएं बंद करें या उन्हें क्रियात्मक रूप देना शुरू करें

उन्होंने कहा कि दूसरा मिनी सचिवालय भी 2008 से 2012 के कार्यकाल में बीजेपी सरकार ने ही बनाया था इसका भी शिलान्यास, निर्माणकार्य और उद्घाटन उसी दौरान हुआ था। खोखली घोषणाओं के लिए सीएम को आड़ हाथ लेते हुए उन्होंने कहा कि एक तरफ वे प्राथमिक पाठसालाओं को बंद कर रहे हैं दूसरी तरफ बिना भवन, बिना बुनियादी ढांचे और बिना स्टाफ के महाविद्यालयों की घोषणाएं कर रहे हैं। पटवारखानों में पटवारी नहीं, तहसीलों में तहसीलदार व अन्य स्टाफ नहीं और नई तहसीलों व नागरिक उपमंडलों की घोषणाएं बिना सुविधाओं के की जा रही हैं। अस्पतालों में बिना स्टाफ, बिना बुनियादी ढांचे के घोषणाएं और स्त्तरोन्नत करने की बातें हो रही हैं । इसलिए धर्मशाला को दूसरी राजधानी की घोषणा पर कौन विश्वास करेगा, जब वह एक सांस में उसे दूसरी राजधानी बनाने की घोषणा करते हैं और दूसरी सांस में साथ ही दो महीने के लिए सभी कार्यालयों और अधिकारियों को शिमला से धर्मशाला स्थानान्तरित करने से इनकार कर देते हैं। यदि इसके बारे में वह गंभीर हैं तो बताएं कि दो महीने के लिए सारे कार्यालय और अधिकारी शिमला से धर्मशाला आ जाएंगे ? क्या वे इस बात के लिए तैयार हैं कि बजट सत्र धर्मशाला में ही आयोजित करेंगे? उन्होंने कहा कि या तो सीएम को अपनी घोषणाओं को क्रियात्मक रूप देने के लिए ठोस कदम उठाने चाहिए या फिर कोरी घोषणाओं के माध्यम से लोगों को गुमराह करना बंद कर देना चाहिए।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है