- Advertisement -

जानिए उम्र में पत्नी से बड़ा क्यों होना चाहिए पति …

why husband should be elder than the wife

0

- Advertisement -

जब भी हमारे परिवार वाले हमारी शादी के लिए लड़की सिलेक्ट करते हैं तो सबसे पहले वह लड़की की उम्र पूछते हैं क्योंकि हमारे समाज में पति का पत्नी से बड़ा होना बेहद जरूरी होता है और जब बात की जाती है अरेंज मैरिज की तो घर वाले इस बात का अच्छे से ख्याल रखते हैं कि बहू हमारे बेटे से छोटी ही हो। हम शुरू से ही देखते आ रहे हैं कि हमारे मम्मी-पापा, दादा-दादी, मामा-मामी, चाचा-चाची के बीच भी ऐज का गैप जरूर है। हमारे देश भारत में यह माना जाता है कि पत्नी को पति से उम्र में छोटा होना चाहिए लेकिन क्या कभी आपने यह सोचा है की ऐसा क्यों? क्या यह जरूरी है? क्या दोनों की उम्र एक जैसी नहीं हो सकती? या पति की उम्र से पत्नी बड़ी नहीं हो सकती है। आज के समय में यह सबसे बड़ा सवाल यह है कि यह धारणा लोगों के मन में आई कैसे। आखिर क्या है इसके पीछे का राज क्या हैं। आइए जानते हैं क्या इसके पीछे कोई धार्मिक पहलू है …

  • लोगों का मानना है कि पति का उम्र पत्नी से बड़ा होना बेहद जरूरी है ताकि वह इस लायक बन सके कि अपने घर-परिवार एवं पत्नी के लिए आमदनी ला सके।
  • वैज्ञानिकों का ऐसा मानना है कि एक लड़के और लड़की कि मैच्योरिटी के स्तर में काफी फर्क होता है। लड़कियां लड़कों से जल्दी मैच्योर हो जाती हैं इन्हे समय नहीं लगता है, जबकि लड़कों को भावनात्मक रूप से मैच्योर होने में समय लगता है। उनके बीच का अंतर 3 से 4 वर्ष का हो सकता है।
  • यदि लड़के और लड़की की शादी एक ही उम्र में करा दी जाए तो उनकी सोच एक-दूसरे से नहीं मिलेगी जिस वजह से उनका रिश्ता अधिक समय तक दिन टिक नहीं पाएगा।

  • विशेषज्ञों का ऐसा मानना है की यदि एक ही उम्र के लड़का-लड़की की शादी हो जाए तो उनमें आपसी समझ पनप नहीं पाती लेकिन यदि उनकी उम्र का अंतर होता है तो दोनों एक-दूसरे की बात को अच्छे से समझ पाते हैं और यही एक सफल शादी की निशानी मानी जाती है।
  • खुद से ज्यादा उम्र वाला हमसफर होने से जिम्मेदारियों का एहसास जल्द होने लगता है। अगर दोनों एक ही उम्र के होंगे तो उनमें अनुभव की कमी होने के साथ ही जीवन में कई परेशानियों का सामना करा पड़ता है।
  • ज्यादातर देखा जाता है कि जब पति और पत्नी की उम्र में अंतर होता है तो दोनों में खूब बनती है। इसका सबसे बड़ा कारण दोनों के बीच उम्र का गैप है।

  • जिसके चलते दोनों के बीच अहम का टकराव बहुत कम होता, लेकिन अगर दोनों एक की एज ग्रुप के होंगे तो बातों को लेकर टकराव की स्थिति बनना स्वाभाविक है।
  • यह देखा गया है कि पुरुष की डेटिंग सबसे ज्यादा सफल कम उम्र की लड़कियों के साथ होती है क्योंकि लड़कियां ज्यादातर परिपक्व और सफल पुरुषों की तलाश में रहती हैं।
  • दो लोगों के दांपत्य सूत्र में बंधने के बाद दोनों को एक दूसरे को गहराई से समझने की जरूरत होती है। पति उम्र में बड़े होने के चलते धैर्य से काम लेता है और पति के साथ सामंजस्य बिठा कर रखता है।
  • इस बात का समर्थन विज्ञान भी करता है। विज्ञान के मुताबिक दुल्हन को दूल्हे से 5 साल तक छोटा होना चाहिए।

 

पंडित दयानन्द शास्त्री,
(ज्योतिष-वास्तु सलाहकार)

- Advertisement -

Leave A Reply