Expand

Decision: कम होगा बच्चों के बस्तों का बोझ

Decision: कम होगा बच्चों के बस्तों का बोझ

- Advertisement -

धर्मशाला। शीतकालीन स्कूलों की दसवीं व 11वीं की परीक्षाएं दिसंबर में करवाने का मामला सरकार education-board2के समक्ष रखा जाएगा। साथ ही बच्चों के बस्तों का बोझ कम करने के लिए पहली से पांचवीं तक के पाठ्यक्रम को दो भागों में विभाजित करने पर भी सहमति बन गई है। बोर्ड इस वर्ष कार्यशाला लगाकर इस मामले में कोई निर्णय लेगा। साथ ही विभिन्न विषयों में बहुविकल्पीय प्रश्नों की संख्या को भी बढ़ाया जाएगा। इसके अलावा स्थल मूल्यांकन में प्रथम रविवार का भुगतान करने की बात भी मान ली गई है।

  • पहली से पांचवीं तक के पाठ्यक्रम को दो भागों में विभाजित करने पर सहमति
  • सरकार से उठाया जाएगा शीतकालीन स्कूलों की दसवीं व 11वीं परीक्षाओं का मुद्दा
  • विभिन्न विषयों में बहुविकल्पीय प्रश्नों की संख्या को भी बढ़ाया जाएगा

अध्यापकों की बकाया राशि जो बोर्ड से देय है, उसे भी जल्द ही रिलीज कर दिया जाएगा।

आज धर्मशाला में हिमाचल राजकीय अध्यापक संघ की बोर्ड अध्यक्ष बलबीर तेगटा के साथ हुई बैठक में इन मुद्दों पर चर्चा हुई। यह बैठक संघ के प्रदेश महासचिव प्रदेश सुभाष पठानिया के नेतृत्व में संपन्न हुई। इस बैठक में सचिव शिक्षा बोर्ड डॉ (मेजर) विशाल शर्मा भी विशेष रूप से उपस्थित रहे।

  • बोर्ड ने मूल्यांकन में प्रथम रविवार का भुगतान करने की बात भी मानी
  • अध्यापकों की बकाया राशि जो बोर्ड से देय है, उसे भी जल्द किया जाएगा रिलीज

education-board1बैठक में संघ की तरफ से 25 विभिन्न मुद्दों पर बातचीत की गई। शीतकालीन स्कूलों की दसवीं एवं 11वीं की परीक्षाएं दिसंबर में करवाने की बात शिक्षार्थी हित को देखते हुए संघ ने बोर्ड अध्यक्ष के समक्ष रखी, जिसे बोर्ड अध्यक्ष ने सरकार के समक्ष रखने की बात कही। मूल्यांकन एवं परीक्षा संचालन संबंधी मानदेय बढ़ाने के लिए उन्होंने सहानुभूति विचार करने की बात कही। केंद्र संचालन फीस पर पुर्न विचार करने की बात कही। अनुपूरक परीक्षा केंद्रों की बढ़ोतरी पर अध्यक्ष ने इसे मान लिया। बच्चों के बस्तों का बोझ कम करने के लिए संघ ने अयक्ष को पहली से 5वीं तक के पाठयक्रम को दो भागों में एसए-1 व एसए-2 में विभाजित करने पर पूरजोर मांग की, जिसे उन्होंने काफी विचार-विमर्श के बाद माना कि इस पर इस वर्ष कार्यशाला लगाकर निर्णय लिया जाएगा। पाठयक्रम, मॉडल प्रश्न पत्र व अंक वितरण व्यवस्था को बोर्ड की वेबसाइट पर छात्र हित हो देखते हुए शीघ्र ही डाल दिया जाएगा। ऑनलाइन छात्र पंजीकरण, शुल्क भुगतान को और सरल बनाने की बात भी मानी व अध्यक्ष ने यह भी कहा कि जिन विद्यालयों में इस ऑनलाइन पंजीकरण में समस्या आती है, वह बोर्ड के निकटतम डिपो में जाकर यह कार्य संपन्न करवा सकेंगे। जल्द ही ऐसे निर्देश जारी कर दिए जाएंगे। बैठक में परीक्षाओं में उड़नदस्तों, मुख्य मूल्यांकन निरीक्षक आदि में वरिष्ठता का ध्यान रखा जाएगा। अध्यापक होली-डे होम पर विचार विमर्श में संघ ने सभी होली-डे होम के रखरखाव के प्रति ध्यान आकर्षित करते हुए सभी जिलों में इनके निर्माण व सही ढंग से रखरखाव की बात अध्यक्ष के समक्ष रखी, जिन्हें उन्होंने स्वीकार किया। इस बैठक में संघ के प्रदेश पदाधिकारी नरेंद्र पठानिया, शक्ति सूद, शशी पाल, कुलभूषण, राकेश कटोच, विजय शर्मा, रविंद्र ठाकुर, पृथी राणा, सुधीर पठानिया, अशोक जम्बाल, रमन भारती, राकेश गौतम, संजय कुमार व नरेंद्र सिंह आदि शामिल थे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है