Covid-19 Update

2,05,874
मामले (हिमाचल)
2,01,199
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,612,794
मामले (भारत)
198,030,137
मामले (दुनिया)
×

महिलाओं का फूटा गुस्साः उखाड़ फेंका ठेके का शटर

महिलाओं का फूटा गुस्साः उखाड़ फेंका ठेके का शटर

- Advertisement -

Wine Shop Problem : जोगिंद्रनगर। ठेके का विरोध आज उस समय मुखर हो गया, जब महिलाओं ने चौंतड़ा में निर्माणाधीन ठेके के शैड का शटर आदि उखाड़ दिया। बाद में मामला पुलिस के समक्ष लाया गया तो पंचायत प्रधान व पुलिस के हस्तक्षेप से दोनों पक्षों में समझौता हो गया तथा देर शाम ठेका खोलने का मार्ग भी प्रशस्त हो गया। ठेका खोले जाने के संदर्भ में महिला मंडलों ने जोगिंद्रनगर के एसडीएम से मिलकर अपनी आपत्ति दर्ज करवा दी थी। इस पर कार्रवाई करते हुए उपमंडलाधिकारी राहुल चौहान ने आबकारी एवं कराधान विभाग के अधिकारियों को मौके की विस्तृत रिपोर्ट कार्यालय में तलब करने के आदेश जारी किए थे। तलकेहड़ पंचायत के स्तैन गांव के नजदीक शुक्रवार को ही खोला गया था।

Wine Shop Problem : महिलाओं का विरोध प्रदर्शन करना तर्कसंगत नहीं

देर शाम गांव की दर्जनों महिलाओं ने ठेके के बाहर रोष प्रकट किया और शराब के ठेके को बंद करवाने की धमकी दे डाली। आबकारी एवं कराधान विभाग के निरीक्षक डेविड मोहन का कहना है कि न्यायालय की तमाम औपचारिताओं को पूरा करने के बाद ही क्षेत्र में शराब के ठेके को खोला जा रहा है। महिलाओं के द्वारा विरोध प्रदर्शन करना तर्कसंगत नहीं है। उधर, शराब के ठेकेदार लाजपत ने पुलिस अधीक्षक मंडी से मामले में हस्ताक्षेप कर ठेकों की पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था करने की मांग की है। विभाग के निरीक्षक डेविड मोहन का कहना है कि सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों की पालना करने के बाद ही संबंधित ठेकेदार को उक्त स्थान पर शराब का ठेका खोलने की अनुमति प्रदान की थी।


पुलिस के पास पहुंचा मामला, दोनों पक्षों में समझौता

गांव का माहौल न बिगड़े इस बारे में भी संबंधित ठेकेदार को कड़ी हिदायतें दी गई हैं। वहीं, ठेकेदार लाजपत का कहना है कि उनके द्वारा चौंतड़ा जोन के कुल 7 शराब के ठेकों की 3 करोड़ 55 लाख लाइसैंस फीस आबकारी एवं कराधान विभाग को अदा करने के बाद तमाम औपचारिताओं को पूरा करने के बाद ही शराब के ठेके को खोला गया है। ऐसे में पंचायत वासियों के द्वारा विरोध प्रकट कर स्वयं ही पंचायत का माहौल खराब करने का प्रयास किया जा रहा है, जिसे हरगिज बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

डीएसपी अनिल धौल्टा ने भी पंचायत वासियों को उग्र प्रदर्शन न करने की हिदायत देते हुए कहा कि वह अपनी समस्या को शांतिपूर्ण ढंग से स्थानीय प्रशासन के पास समक्ष रखें। कानून को अपने हाथ में लेने वालों पर सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है