Covid-19 Update

1,98,877
मामले (हिमाचल)
1,91,041
मरीज ठीक हुए
3,382
मौत
29,548,012
मामले (भारत)
176,842,131
मामले (दुनिया)
×

Budget Session: विश्व बैंक की 700 करोड़ की एकीकृत विकास परियोजना को मंजूरी

Budget Session: विश्व बैंक की 700 करोड़ की एकीकृत विकास परियोजना को मंजूरी

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश में लघु और सीमांत किसानों की आर्थिकी में सुधार के लिए 700 करोड़ रुपए की एकीकृत विकास परियोजना को फिर से मंजूरी मिल गई है। इस परियोजना को विश्व बैंक (World Bank) से हरी झंडी मिलने से प्रदेश में वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद मिलेगी। परियोजना को मंजूरी मिलने की जानकारी वन मंत्री गोविंद ठाकुर ने आज विधानसभा में बजट सत्र (Budget Session) के दौरान एक विशेष व्यक्तव्य के माध्यम से दी। वनमंत्री ने कहा कि यह परियोजना 4 अगस्त 2017 को विश्व बैंक ने हिमाचल के लिए स्वीकृत की थी, लेकिन 12 जुलाई 2018 को इसे किन्हीं कारणों से कुछ समय के लिए लंबित कर दिया गया और फिर 29 अगस्त 2018 को विश्व बैंक ने इस परियोजना को बंद करने का निर्णय लिया था।

यह भी पढ़ें: इंदु के नामांकन में व्यस्त थे BJP विधायक, नाराज विपक्ष का सदन से वॉकआउट


उन्होंने कहा कि इस परियोजना के बंद होने से 400 से अधिक अनुबंध और दैनिकभोगी कर्मचारी बेरोजगार हो गए थे। यह परियोजना प्रदेश के 10 जिलों की 428 पंचायतों के लघु और सीमांत किसानों को कृषि सिंचाई के लिए कूहल व लिफ्ट के माध्यम से जल प्राप्त करवाया जाना प्रस्तावित है। इन पंचायतों में जिन ग्रामीणों के पास कृषि योग्य भूमि पर्याप्त नहीं है, उनके लिए पशु पालन और अन्य आजीविका के साधन उपलब्ध करवाने के प्रयास किए जाएंगे। इसके अलावा महिला सशक्तिकरण और क्षमता निर्माण को भी इस परियोजना के माध्यम से बल दिया जाना है।

गोविंद ठाकुर ने कहा कि परियोजना को फिर से चालू करवाने के लिए जब विभागीय प्रयास विफल रहे तो उन्होंने सीएम के निर्देश पर तत्कालीन वित्त मंत्री स्व. अरुण जेटली से मिलकर इस परियोजना को फिर से चालू करने का आग्रह किया। इसके बाद सीएम जयराम ठाकुर भी दो बार अरुण जेटली से व्यक्तिगत तौर पर मिले। अरुण जेटली की सिफारिश पर ही विश्व बैंक ने इस परियोजना को फिर से शुरू करने पर हामी भरी। वन मंत्री ने कहा कि 11 मार्च को इस परियोजना को फिर से शुरू करने पर विश्व बैंक की ओर से जुनैद कमाल अहमद, केंद्रीय वित्त मंत्रालय की ओर से अतिरिक्त सचिव समीर खरे और प्रदेश सरकार की ओर से अतिरिक्त मुख्य सचिव (वन) रामसुभग सिंह ने हस्ताक्षर किए हैं। उन्होंने यह भी कहा कि परियोजना को कार्यान्वित करने और विश्व बैंक द्वारा इस परियोजना को फंडिंग देने की सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली हैं।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है